जिले में लॉकडाऊन लगने के बजाए हो सकती है समय में कटौती, व्यापारी संगठनों की बैठक में नहीं हुआ लॉकडाऊन लगाने का निर्णय

मयंक भार्गव

बैतूल १६ सितम्बर ;अभी तक;  जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति लगातार बेकाबू होने और लगातार संक्रमितों की संख्या बढऩे के बावजूद जिले के व्यापारी संगठन टोटल लॉकडाऊन लगाने के बदले बाजार सीमित समय के लिए खोलने का विचार कर रहे हैं। इंदौर और जबलपुर में व्यापारी संगठनों द्वारा स्वेच्छा से एक सप्ताह का लॉकडाऊन लगाने के बाद जिले के व्यापारी संगठनों ने भी जिले में लॉकडाऊन लगाने के निर्णय को लेकर मंगलवार को बैठक कर लॉकडाऊन को लेकर चर्चा की जिसमें कोई निर्णय नहीं निकल पाया। अब सभी संगठन के पदाधिकारियों अपने-अपने संगठन के सदस्यों से चर्चा करेंगे उसके बाद ही कोई निर्णय हो पाएगा।

ज्ञातव्य हो कि जिले में पिछले एक सप्ताह से कोरोना संक्रमण बेकाबू होता जा रहा है। प्रतिदिन औसतन आधा सैकड़ा संक्रमित निकल रहे हैं जिसके बाद बैतूल में भी इंदौर और जबलपुर के व्यापारियों द्वारा स्वेच्छा से लगाए लॉकडाऊन की तर्ज पर लॉकडाऊन लगाने की बात चलने लगी। इस पर व्यापारियों की राय जानने मंगलवार को लगभग एक दर्जन व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारियों की बैठक हुई। जिला थोक व्यापारी संघ के अध्यक्ष मनोज भार्गव ने बताया कि मंगलवार को हुई बैठक में बैतूल जनरल एवं किराना व्यापारी संगठन के राजेश सुराणा, युसूफ पटेल, प्रवीण गुगनानी, सराफा व्यापारी संघ के अरूण गोठी, लोकेश पगारिया, कपड़ा एवं रेडीमेट व्यापारी संघ के संजय पगारिया, बिट्टू बोथरा, होटल एवं रेस्टारेंट संघ के राम भार्गव, पंकज बतरा, मोबाइल विक्रेता संघ के गणेश आहूजा, संदीप तलेरा, सब्जी विक्रेता संघ के राजकुमार राठौर, औषधि विक्रेता संघ के मनजीतसिंह साहनी, सैलून संघ के नंदन श्रीवास, डिस्ट्रीब्यूटर एसोसिएशन के धर्मेंद्र मेहता आदि शामिल हुए।

बैठक में लॉकडाऊन लगाने को लेकर सभी संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि वे अपने-अपने संग्ठन में सदस्यों से चर्चा कर इस संबंध में निर्णय करेंगे। अधिकांश व्यापारियों का कहना था कि यदि हम व्यापारी बाजार बंद भी कर देंगे लोगों का आजाना-जाना बंद नहीं होगा। प्रशासन के सहयोग के बिना आवाजाही पर पाबंदी नहीं लग सकती है। ऐसे में यदि बाजार बंद भी कर दिए जाए और जनता आना-जाना करती रहे तो कोरोना की चैन नहीं टूटेगी। जिससे बाजार बंद करने का कोई औचित्य नहीं रहेगा। बैठक में व्यापारियों ने राय दी कि पूर्व लॉकडाऊन लगाने के बदले बाजार कम समय के लिए भी खोला जा सकता है। इस पर भी व्यापारियों द्वारा विचार किया जा रहा है। लॉकडाऊन को लेकर किसी प्रकार का निर्णय नहीं होने से फिलहाल जिले में लॉकडाऊन लगने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। अब व्यापारी संग्ठनों के निर्णय लेने के बाद ही लॉकडाऊन को लेकर स्थिति स्पष्ट होगी।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *