जिले में 18 ग्राम पंचायतें होगी कम, 554 पंचायतों में होंगेे चुनाव

मयंक भार्गव

बैतूल २३ नवंबर ;अभी तक;  कांग्रेस सरकार द्वारा सितंबर 2019 में जिले से लेकर ग्राम पंचायतों तक किये गये नये परिसीमन को भाजपा सरकार ने निरस्त कर दिया है। प्रदेश सरकार ने पंचायत राज (संशोधन) अध्यादेश 2021 लागू कर कांग्रेस सरकार द्वारा किये गये नये परिसीमन को निरस्त कर दिये है। नया परिसीमन निरस्त होने के बाद अब सभी जिला जनपद एवं ग्राम पंचायतों का परिसीमन पूर्ववत रहेगा एवं पूर्व के परिसीमन के मुताबिक ही पंचायत राज संस्थाओं के आम निर्वाचन होंगे। नया परिसीमन निरस्त होने के बाद बैतूल जिले में 18 ग्राम पंचायतें कम हो जायेगी जिससे अब 554 ग्राम पंचायतों में चुनाव होंगे।

बैतूल, भीमपुर, शाहपुर में बढ़ी थी 18 ग्राम पंचायतें

सितंबर 2019 में मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार द्वारा जिला पंचायत, जनपद पंचायत एवं ग्राम पंचायतों का नये सिरे से परिसीमन किया गया था। नये परिसीमन में बैतूल जिले में जिला पंचायत एवं जनपद पंचायत क्षेत्र यथावत रहे थे। परंतु जनपद पंचायत बैतूल में 16 तथा जनपद पंचायत भीमपुर व शाहपुर में 1-1 ग्राम पंचायत की संख्या बढ़ गई थी। परंतु प्रदेश सरकार में हाल ही में नये परिसीमन को खत्म कर देने से बैतूल जिले में 18 ग्राम पंचायतें कम हो जायेगी। उल्लेखनीय है कि पूर्व में बैतूल जिले में 556 ग्राम पंचायतें थी परंतु ग्राम पंचायत शाहपुर एवं घोड़ाडोंगरी के नगरीय निकाय बनने के बाद दो पंचायतें कम हो गई थी। जिसके चलते अब 554 पंचायतों में आम चुनाव होंगे।

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *