झेलम एक्सप्रेस के यात्री के 6 लाख के आभूषण चोरी, तीन संदिग्ध आरोपी हिरासत में

मयंक शर्मा
खंडवा ३१ मई ;अभी तक;  शुक्रवार  को  झेलम एक्सप्रेस में एक यात्री से 6 लाख रुपए कीमत के आभूषण चोरी हाने के मामले में रेल्वे पुलिस नगर के सूरजकुंड क्षेत्र से  तीन संदिग्ध आरोपियों को हिरासत में लेकर गोपनीय तरीके से पूछताछ कर ही है।
                इटारसी के डीएसपी(रेल्वे) अर्चना शर्मा की अगुआई मेें पडताल जारी है। उन्होने बताया  कि जीआरपी के हत्थे चढ़े सूरजकुंड के आरोपियों से झेलम सहित अन्य चोरी के मामले के खुलासा होने की संभावना है। कोरोना संक्रमण के दौरान जहां वायरस के डर से रेलवे स्टाफ यात्रियों से भरी ट्रेनों में
जाने से कतरा रहा है। वहीं चोर आसानी से लोगों को शिकार बना रहे हैं।
               जीआरपी के जवानों की माने तो पकड़ आए गिरोह से एक दर्जन से अधिक मामलों के खुलासे होंगे।चोरी के मामले में आरोपियों को पकड़ने के लिए मुखबिर को सूचना के लिए लगाया गया है। कुछ संदेहियों से पूछताछ की जा रही है। चोरों द्वारा आभूषण के साथ चोरी की गई पीड़ित के मोबाइल की लोकेशन प्लेटफार्म नंबर-6 से सटे बस्ती सूरजकुंड में मिली। खंडवा स्टेशन के करीब हुई घटना की रिपोर्ट फरियादी  ने महाराष्ट्र के अहमदनगर जीआरपी थाने में दर्ज कराई। घटना की सूचना की जानकारी  अहमदनगर से जीआरपी खंडवा व इटारसी को मिली। जिसके बाद जीआरपी के इटारसी में पदस्थ डीएसपी के साथ जीआरपी के स्थानीय स्टाफ संयुक्त रूप से चोरों की तलाशी में जुटे है। जीआरपी ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर प्लेटफार्म नंबर-6 के पीछे सूरजकुंड से तीन संदिग्ध आरोपियों को हिरासत में लेकर  पूछताछ की  है।
                 डीएसपी ने बताया कि पीडित फरियादी यूपी के जालौन जिला उरई का निवासी है। वह झेलम एक्सप्रेस से 6 लाख रुपए के सोने-चांदी का आभूषण लेकर झांसी से अहमदनगर की यात्रा कर रहा था। शुक्रवार सुबह के वक्त जब व सो रहा था तभी चोरों ने घटना को अंजाम देकर खंडवा में उतर गए। उधर रविवार रात गश्त के दौरान जीआरपी  जवानों ने खंडवा में इटारसी आउटर, स्टेशन व भुसावल छोर पर पुराने पुल के पास पांच बदमाशों को देखा। जीआरपी जवान को देखकर बदमाश भागे, लेकिन उन्हें घेराबंदी कर सरस्वती स्कूल के पास दबोच लिया था।