टीकमगढ़ नगरपालिका में 22 साल बाद कांग्रेस का कब्ज़ा, बीजेपी विधायक के नजदीकी रिश्तेदार भी हारे

5:37 pm or July 20, 2022
टीकमगढ़ से पुष्पेन्द्रसिंह
टीकमगढ़ 20 जुलाई ;अभी तक; नगरीय निकाय के दूसरे चरण के मतदान के आज घोषित नतीजों में टीकमगढ़ नगरपालिका के 27 वार्डों में से कांग्रेस पार्टी ने 14वार्ड जीतकर अपना अध्यक्ष बनाने का मार्ग प्रशस्त कर लिया!
               आधिकारिक जानकारी के अनुसार बीजेपी ने 10 वार्डों में जीत दर्ज की है।  आज सुबह से ही शहर के जागरूक नागरिकों को इस नगरपालिका और खासतौर पर वार्ड नंबर 1और छह के नतीजों का बेसब्री से इंतजार था।  वो इसलिए कि इन वार्डों से स्थानीय बीजेपी विधायक की नजदीकी रिश्तेदार क्रमशः नेहा गिरी और मोहनी गिरी चुनाव लड़ रहीं थीं, जिन्हें कांग्रेस की सीताबाई ने 49 और रजनी पूनम जायसवाल ने 279 मतों से पराजित कर दिया! इतना ही नहीं विधायक गिरी के वार्ड में भी बीजेपी उम्मीदवार को हार का मुँह देखना पड़ा!
                चुनाव नतीजों से साफ है कि स्थानीय जनता बदलाव के पक्ष मे थी यहीं कारण हैं कि बीजेपी की वरिष्ठ नेता उमा भारती की करीबी सरोज राजपूत को कांग्रेस की  आलमीनाज़ बानो  ने 156 मतों से मात दी! चुनाव नतीजों से स्पष्ट है कि कांग्रेस नेता यादवेन्द्र सिंह को लोग अपने नेता के तौर पर मानते हैं।  13 जुलाई को मतदान के दिन वार्ड 1 में जिस तरह से कथित तौर पर झगडे के बाद विधायक गिरी ने न सिर्फ यादवेन्द्र सिंह, बल्कि उनके बेटे शाश्वत व भतीजो के खिलाफ (आई पी सी )की विभिन्न धाराओं के तहत पुलिस में मामला पंजीबद्ध कराया, उस प्रकरण के बाद, अधिकांश लोगों में बीजेपी और विधायक गिरी के खिलाफ नाराजगी देखी गयी जिसके परिणाम सामने हैं!
                वर्ष 2000 के बाद इस नगरपालिका पर बीजेपी पार्टी का अध्यक्ष रहा है लेकिन आज के परिणामों से कांग्रेस उक्त पद पर काबिज होने जा रही है करीब 22 साल बाद स्थानीय लोगों ने बदलाव के पक्ष में अपना मत दिया!