डिप्टी रेंजर की पिटाई से घायल मजदूर का हुआ ऑपरेशन, अब तक नहीं मिला न्याय

10:33 pm or December 28, 2021

नारायणगंज से प्रहलाद कछवाहा

मंडला  28 दिसबंर  ;अभी तक;  समीपी गांव देवगांव निवासी मजदूर सोमकांत झारिया का ऑपरेशन मंगलवार को जबलपुर के एक अस्पताल हुआ। उसके दाहिने हाथ ओर दाहिने पैर में फैक्चर आने से यह ऑपरेशन कराना पड़ा है ऑपरेशन में उसके हाथ और पैर में प्लेट डालने की बात परिजनों द्वारा बताई गई है। बता दें कि मजदूर सोमकांत झारिया की यह हालत डिप्टी रेंजर वन परिक्षेत्र मोहगांव द्वारा की गई है। सोमकांत की मानें तो डिप्टी रेंजर ने उसके साथ इस बात को लेकर मारपीट की क्योंकि डिप्टी रेंजर के घर के पीछे रखे पैरे में आग लग गई थी डिप्टी रेंजर ने यह मान लिया कि यह आग सोमकांत के बच्चों ने लगाई है पहले डिप्टी रेंजर ने उसके बच्चों को दो घंटे तक बंधक बनाकर रखा इसके बाद शाम को सोमकांत के घर जाकर उसकी इस तरह अपने परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मारपीट की कि सोमकांत जो मजदूरी करके अपना और अपने दो मासूम बच्चों का भरण-पोषण कर रहा था उसका अब एक हाथ और एक पैर की हड्डियां बुरी तरह टूट गई। जिला अस्पताल से उसे रेफर कर दिया गया था मंगलवार को उसका इलाज जबलपुर के एक अस्पताल में हुआ है।

न्याय की मांग :

परिजनों का कहना है कि करीब एक सप्ताह पूर्व डिप्टी रेंजर द्वारा सोमकांत की पिटाई की गई थी जिसकी शिकायत भी मोहगांव थाने में दर्ज करा दी गई लेकिन अब तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है। मजदूर सोमकांत किसी तरह इलाज के बाद आगे ठीक तो हो जाएगा लेकिन उसका एक हाथ और एक पैर हमेशा के लिए कमजोर हो जाएंगे एक मजदूर के लिए हाथ और पैर बेहद जरूरी है सोमकांत की पत्नी का निधन करीब 6 माह पूर्व केंसर के चलते हो गया था उसका 12 साल और एक 7 साल का बेटा है दोनों की जिम्मेदारी सोमकांत पर ही है बच्चे अपने पिता की सेवा में लगे हुए हैं वहीं उन मासूमों को इंतजार है कि कब उनके पिता को इस हालत में पहुंचाने वाले डिप्टी रेंजर पर कड़ी कार्यवाही होती है।