डेंगू में भी आपदा में अवसर तलाश रहे है पेथालॉजी संचालक- श्री भाटी

महावीर अग्रवाल
मंदसौर १० सितम्बर ;अभी तक;  कोरोना के उपरांत वर्तमान में डेंगू एक बडी चुनौती बनकर मंदसौर जिले में उभरकर सामने आया है। वर्तमान में डेंगू महामारी के चलते आम नागरिको को इलाज मुश्किल से मिल पा रहा है वही जांचो के नाम पर आम नागरिको पर अनावश्यक बोझ डाला जा रहा है। मंदसौर जिला मुख्यालय पर एक ही प्रकार की जांच के अलग- अलग रेट एवं राशि नागरिको से वसुली जा रही है। मलेरिया, डेगू एवं रक्त संबंधी विभिन्न जांचो में डॉक्टरो एवं पैथालॉजी संचालक के गठबंधन का खामियाजा आम नागरिका भोग रहे है। जनहित में सभी पेथालॉजी संचालको को सभी जांचो की दर की रेट लिस्ट चस्पा करने हेतु निर्देशित किया जाये।
              जिला कांग्रेस प्रवक्ता एवं राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस के अध्यक्ष सुरेश भाटी ने नवागत कलेक्टर श्री गौतमसिंह को पत्र के माध्यम से आग्रह करते हुये कहा कि लगातार मंदसौर जिले के पेथॉलॉजी संेंटरो के साथ ही सोनोग्राफी सेंटरो पर विभिन्न जांचो की दर आज दिन तक निर्धारित नही हो पायी है। वर्तमान में बडे पैमाने पर डेंगू एवं अन्य मौसमी बीमारियो का कहर देखने को मिल रहा है। डेंगू मलेरिया एवं अन्य स्थिति में ब्लड, यूरिन एवं अन्य सेंपलो की जांच अनिवार्य हो गयी है इस स्थिति में मंदसौर नगर की पेथालॉजी सेंटर एक ही प्रकार की जांचो के रेंट विभिन्न पेथालॉजी पर अलग-अलग है जो समझ से परे है।
             श्री भाटी ने कहा कि मंदसौर जिला मुख्यालय पर स्वास्थ्य विभाग का पुरा संरक्षण स्वास्थ्य माफियाओ को रहा है। कोरोना काल के दौरान ऑक्सीजन बेचे जाने के मामले में भी जिला स्वास्थ्य अधिकारी एवं सीविल सर्जन को सीधे रूप से बचाया गया, वर्तमान में स्वास्थ्य विभाग के उपर पेथालॉजी सेंटरो पर नियंत्रण का अधिकार है लेकिन मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी पेथालॉजी एवं सोनोग्राफी सेंटरो की ढाल बने हुये है।
              अतः श्री भाटी ने जिले के नवागत कलेक्टर महोदय श्री गौतमसिंह से आग्रह किया है कि वे स्वास्थ्य के लिये जरूरी पेथालॉजी सेंटरो पर विभिन्न जांचो की दर चस्पा करवाते हुये सावर्जनिक रूप से दर जिला प्रशासन पीआरओ के माध्यम से जारी करवाये।