डैमेज कंटोल को बचाने के लिये प्रत्याशी व सांसद ने जोडे हाथ, भाजयुमो प्रदेशाध्यक्ष की बैठक में नारे बाजी हंगामा व बहिष्कार की चली नौटंकी।

मयंक शर्मा

खंडवा २१ अक्टूबर ;अभी तक;  जिले के मंधाता विस सीट के उपचुनाव के लिये मतदान की तिथि नजदीक खडे होते जा  रही है और भाजपा  में डेमेज कंटो्ल करना मुश्किल पड रहा है।सुबह से आए कार्यकर्ताओं ने  भेाजन के पेकेट कम पडने को लेकर यहां तक कहाकि  जब व्यवस्था नहीं थी तो हमें क्यों बुलाया   गया।

भाजयुमो के कार्यकर्ताओं ने अपने ही प्रदेशाध्यक्ष अभिलाष पांडेय के सामने हाय-हाय के  नारे लगाए। एक कार्यकर्ता मंचासीन प्रदेश अध्यक्ष से मिलने से मंडल अध्यक्ष ने रोका तो बैठक का  माहौल फिर गरमा गया। अपने  अपमान से नाराज नेता व कार्यकर्ता कार्यक्रम बैठक का बहिष्कार  करने को तत्पर हुये तो कांग्रेस छोडकर भाजपा में उम्मीदावारी पा गये पूर्व विधायक वं प्रत्याशी  नारायण पटेल ं हाथ जोड़कर उन्हे गेट से बैंरग लाने का प्रयास किया और सफल रहे। उनकी  मदद के लिये संासद नंदकुमारसिंह भी हाथ जोडकर कार्यकर्ताओं का समझाईस देते रहे।

कार्यकर्ता तपन ने बताया हंगामा बहिष्कार की नौबत तब खडी हो गयी जब  मूंूंदी के मोर्चा कार्यकर्ता सचिन राठौर मंच पर चढ़ने लगे तभी पुनासा मंडल के अध्यक्ष शुभम सोनी  ने उन्हें रोक दिया। इस बात से नाराज राठौर के समर्थकों ने बैठक में हंगामा कर दिया। वहीं  सेक्टर प्रभारियों ने भी कार्यक्रम का बहिष्कार कर कार्यकर्ताओं को बाहर जाने का इशारा किया।  बैठक में माहौल ही बदल गया। कार्यकर्ताओं की भगदड़ के बीच जब युवा हाय-हाय के नारे लगा  रहे थे तब प्रदेशाध्यक्ष पांडेय आसपास बैठे पार्टी के वरिष्ठ नेताओं एवं जिलाध्यक्ष को देखने लगे  लेकिन नाराज कार्यकर्ता किसी की सुनने के लिए राजी नहीं थे।प्रत्याशी भी माजरा बिगडते देख  हतप्रभ थे।

श्री तपन ने बताया कि यह संयोग  रहा कि मंगलवार को कार्यक्रम में देरी से पहुंचे  सांसद चैहान ने गेट से बाहर जा रहे कार्यकर्ताओं को रोका और वरिष्ठ नेताओं को हाथ जोड़कर  पार्टी की इज्जत के नाम पर बैठक में लेकर आए।
बैठक में भाजयुमो कें जिलाध्यक्ष श्यामसिंह मौर्य, जीवन रघुवंशी, प्रदीप नायर, , अमर  यादव सहित मोर्चे के नेता व कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *