तिरमूह हत्याकाण्ड का पुलिस ने किया पर्दाफाश, आरोपी गिरफ्तार

8:41 pm or June 7, 2021
तिरमूह हत्याकाण्ड का पुलिस ने किया पर्दाफाश, आरोपी गिरफ्तार

मयंक भार्गव

बैतूल ७ जून ;अभी तक;  मवेशियों को पानी पिलाने के दौरान एक किसान की हुई हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। यह हत्याकाण्ड जिला मुख्यालय से करीब 45 किलोमीटर दूर आमला ब्लाक के अंतर्गत आने वाले ग्राम तिरमूह में 3 जून को हुआ था। आमला पुलिस ने हत्यारे को 48 घण्टे में पकड़कर हत्या का खुलासा कर दिया है।

मुलताई एसडीओपी नम्रता सोंधिया ने बताया कि 3 जून की रात को  ग्राम तिरमहु निवासी बाबूराव धोटे उम्र 45 वर्ष पिता अजाब राव धोटे अपने खेत पर सो रहा था उसी वक्त गांव के ही युवक कमलेश धोटे ने शराब के नशे में फावड़ा से ताबड़तोड़ वार कर मौत के घाट उतार कर फरार हो गया था। हत्या की शिकायत मृतक के भाई ने आमला थाने में कई थी उसके बाद पुलिस अधीक्षक  बैतूल सिमाला प्रसाद के निर्देशन में तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रद्वा जोशी  के मार्गदर्शन में तत्काल टीम का गठन किया गया और जांच शुरू की गई थी।

एसडीओपी नम्रता सोंधिया ने बताया कि पुलिस की जांच में पाया गया कि  मृतक बाबूराव धोटे एवं उसके परिवार का तिरमहु निवासी कमलेश धोटे पिता शेषराव धोटे उम्र 26 साल निवासी तिरमहु का पानी को लेकर करीब डेढ माह पूर्व विवाद हुआ था क्योंकि मृतक बाबूराव धोटे एवं उसके परिवार के द्वारा उसके घर के सामने बनी पानी की टंकी में सभी मवेशियों को पानी पीने दिया जाता था परन्तु कमलेश धोटे के मवेशियों को पानी पीने पर से विवाद करते थे। इसी विवाद को लेकर कमलेश धोटे के द्वारा बाबूराव धोटे को जान से मारने की धमकी भी दी गयी थी।

इसी संदेह के आधार पर कमलेश पिता शेषराव धोटे उम्र 26 साल निवासी तिरमहु को पुलिस ने पकड़कर  पूछताछ की जिसके द्वारा पूछताछ के दौरान बताया गया कि उसका और मृतक बाबूराव धोटे का पानी की टंकी से मवेशियों को पानी नहीं पीने देने और गाली गलौच करने, खेत में पानी नहीं देने पर  3 जून की रात को  मृतक बाबूराव धोटे खाना खाकर अपने घर से दूर बने जानवरों के बाड़े में सोते समय उसके सिर पर फावड़े से मारपीट कर चोट पहुंचायी एवं पलंग से गिरने के बाद भी कई बार उस पर फावड़े से वार  कर मौत के घाट उतार दिया था।

इस अंधे कत्ल के खुलासे में थाना प्रभारी आमला सुनील लाटा, उपनिरीक्षक नितिन उइके, उपनिरीक्षक अतिम पवार, प्रधान  आरक्षक दिलीप झरबडे, कार्यवाहक प्रधान आरक्षक सुनील राठौर, कार्यवाहक प्रधान आरक्षक बसंत उइके, आरक्षक अरविन्द पटेल, आदित्य बेले, रामकिशन नागौतिया, सचिन दीवान की विशेष भूमिका रही है।