तीन दिन में कोराना ने चार को निगला

मयंक शर्मा

खंडवा २६ सितम्बर ;अभी तक; कोरोना संक्रमित सरकारी कर्मचारी परसराम वटेल (50 साल) की गुस्वार को मोत हो गयी। वे स्थानीय निर्वाचन कार्यालय के सहायक ग्रेड-3 के पद पर पदस्थ थे।

जिला स्वास्थ्य अधिकारी  डाॅ डीएस चैहान ने बताया कि श्री पटेल लगभग एक सप्ताह से कोविड केयर सेंटर में भर्ती थे। शुक्रवार सुबह तबीयत बिगड़ने पर उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। शाम को मौत हो गई। जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत का आंकड़ा बढकर अब 34 हो गया है।  तीन दिनों में जिले मेें कोरोना से ं यह चैथी मौत है।  अपने  कर्मवारी को बचाने के लिये जिला प्रशासन ने रेमडेसिवीर इंजेक्शन ।एंटी वायरल दवा ।के 6 वायल इंदौर से बुलाए। जिसमें एक इंजेक्शन पटेल को डॉक्टरों ने लगा दिया था, लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी।

इससे पहले गुरुवार की शाम को आइसोलेशन वार्ड में कोरोना पॉजिटिव की रिपीट सैंपल रिपोर्ट निगेटिव आई। संतोषी नगर निवासी भैयालाल यादव (75) की रिपोर्ट निगेटिव आने के पांच घंटे बाद रात 11 बजे हार्ट अटैक से कोरोना वार्ड में ही उसकी मौत हो गई। भैयालाल की तबियत खराब होने पर उन्हें परिजन ने 12 सितंबर को भर्ती किया था। जहां पर उनकी जांच रिपोर्ट चार दिन बाद पॉजिटिव आई थी। जिसके बाद उन्हें कोविड वार्ड में शिफ्ट किया गया था। इलाज करने वाले डॉक्टरों ने बताया मरीज को गंभीर निमोनिया था। जिससे वे ठीक हो गए थे। डिस्चार्ज करने के लिए उसकी रिपीट कोरोना सैंपल जांच कराई गई थी। जिसकी रिपोर्ट गुरुवार की ही शाम को निगेटिव आई थी।  अगले दिन  सुबह डिस्चार्ज करने की तैयारी थी लेकिन रात में ही उन्हें कार्डियक अरेस्ट आया तो बचाने का मौका ही नहीं मिला।

डा चैहान ने बताया कि  जिले में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 1455 हो गई। 24 घंटे के भीतर ही एक्टिव पॉजिटिव मरीजों की संख्या में .28 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। गुरुवार को यह आंकड़ा 19.38 था जो शुक्रवार को बढ़कर 19.66 पर पहुंच गया। अबतक 1133 मरीज स्वस्थ्य होकर अस्पताल से डिस्चार्ज किए जा चुके हैं।जिले का रिकवरी रेट 78.14 है। एक्टिव केस का प्रतिशत 19.66 है। वर्तमान में जिले में 174 संक्रमित मरीजों को मरीज होम आइसोलेशन में रखकर इलाज किया जा रहा है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *