तीन पत्नियों को चुनाव लड़ाने वाले पंचायत सचिव को नोटिस, दो पत्नि एक ही पंचायत में लड़ रही सरपंची और एक लड़ रही है जनपद सदस्य का चुनाव

5:59 pm or June 19, 2022
एस पी वर्मा
सिंगरौली_१९ जून ;अभी तक;  त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव में  देवसर जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्राम पंचायत घोघरा में पदस्थ पंचायत सचिव  सुखराम सिंह द्वारा  तीन पत्नियों की पुष्टि व तीनों में से एक पत्नी को  जनपद सदस्य व दो पत्नियों को  सरपंच पद का  प्रत्याशी बनाने के मामले में  शिकायत होने पर जनपद सीईओ बी के सिंह द्वारा पंचायत सचिव को निलंबित करने का प्रस्ताव जिला पंचायत सीईओ के यहां प्रस्तुत किया गया है।
                          उक्ताशय की जानकारी में देवसर सीईओ बी. के. सिंह ने बताया कि तीन पत्नी के मामले में सचिव को नोटिस जारी कर विधिवत जांच कराई जा रही है। सीईओ श्री सिंह ने बताया कि सचिव ने तीनो पत्नियो का पति होना स्वीकार किया है। जिसके बाद  जिला  मुख्य कार्यपालन अधिकारी सिंगरौली  को पत्र के माध्यम से अवगत कराया है कि  सुखराम सिंह ग्राम पंचायत घोघरा में सचिव के पद पर पदस्थ था तथा वर्तमान में ग्राम पंचायत घोघरा नगर परिषद् सरई का भाग बन चुका है। साथ ही  सचिव के खिलाफ पंचायत निर्वाचन में गड़बड़झाला किये जाने की शिकायत मिली। सचिव  सुखराम सिंह ने खुद 14 जून को प्रतिवेदित किया की उसकी पत्नी कुसुमकली ग्राम पंचायत पिपरखांड़ से सरपंच पद की प्रत्याशी है। साथ ही दूसरी पत्नी उर्मिला सिंह जनपद सदस्य निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 13 पेडऱा से प्रत्याशी है।
                   इसी प्रतिवेदन में सुखराम सिंह ने अवगत कराया की तीसरी पत्नी गीता सिंह का उल्लेख नहीं किया है जबकि श्रीमती गीता सिंह भी ग्राम पंचायत पिपरखांड़ से सरपंच पद प्रत्याशी है तथा बीते सत्र में सरपंच भी रही हैं। तीनों महिलाओं के नाम निर्देशन में सुखराम सिंह पति के रूप में नामांकित है। इस संंबंध में सचिव को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। किन्तु उनके द्वारा कोई उत्तर नहीं दिया गया। जनपद सीईओ बी के सिंह ने सचिव के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई एवं निलंबित किये जाने का पालन प्रतिवेदन जिला सी ई ओ के यहां प्रस्तुत किया है।