तीन सौ रूपये मेे फर्जी मतदाता परिचय पत्र: केस दर्ज होते साइबर संचालक फरार

मयंक शर्मा
खंडवा  २४ दिसंबर ;अभी तक;  फर्जी मतदाता परिचय पत्र बनाने के मामले में ििजले की पंधाना थाना पुलिस ने साइबर कैफे संचालक के विरूद्ध अपराधिक प्रकरण दर्ज किया हेै।
                पंधाना में तहसील कार्यालय के सामने फर्जी मतदाता परिचय पत्र बनाए जा रहे हैं, इस बात का पता तब चला जब ग्राम कुमठी के दंपति यह मतदाता परिचय पत्र लेकर एसडीएम कार्यालय पहुंचे। उन्होने अधिकारियों को दो मतदाता परिचय पत्र दिखाते हुए पूछा कि क्या ये चल सकते हैं। इन्हें देखने के बाद पता चला कि यह तो फर्जी है।
                  तहसीलदार नितिन चैहान ने गुरूवार को पड़ताल में  पाया की विशाल पटेल ने ही मतदाता परिचय पत्र बनाकर दोनों को दिए हैं। उसने यह यूट्यूब पर देकर बनाए थे। उस पर फर्जी तरीके से बकायदा रिटर्निग अधिकारी के हस्ताक्षर भी किए गए थे। इस मामले में पंधाना थाना प्रभारी एसएस जाधव ने बताया कि गानिक इन्फोटेक के संचालक विशाल पटेल पर धारा 420ए 419 और 467 में प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है। आरोपित की तलाश की जा ही रही है। मामले का पता ब चला जब एकं दंपती ने बताया कि उन्हें तहसील कार्यालय के सामने स्थित गानिक इन्फोटेक के संचालक विशाल पिता  कृष्णा पटेल ने युट्यूब पर दो मतदाता परिचय पत्र बनाकर दिए है। एक मतदाता परिचय पत्र के लिए तीन सौ रुपये लिए हैं। इस तरह से दो मतदाता परिचय पत्र के छह सौ रुपये विशाल पटेल ने लिए।
                 थाना प्रभारी  ने बताया कि  यह भी पता लगाया जा रहा है कि अब तक उसने इस तरह से कितने लोगों को मतदाता परिचय पत्र बनाकर दिए हैं।