थाना प्रभारी ओर एएसआई निलंबित

श्याम त्रिवेदी

झाबुआ 02 जनवरी ;अभी तक;  जिले के रायपुरिया थाना प्रभारी द्वारा डयूटी के दौरान आमजन व व्यापारियों पर लाठीचार्ज कर मारपीट किए जाने जाने की घटना के बाद पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारी प्रभारी अनिल बामनिया एवं एएसआई अजित सिंह को निलंबित कर दिया है। इस घटना का विडीयो सोशल मिडिया पर भी वायरल हुआ।

एसडीओपी सोनू डाबर ने जानकारी देते हुए बताया कि जनता द्वारा एक विडीयो हमें दिया गया। जिसमें रायपुरिया थाना प्रभारी अनिल बामनिया द्वारा एक व्यक्ति को मारपीट करते हुए दिखाई दे रहे है। उसी को हमने संज्ञान मे लिया ओर आधार बनाते हुए थाना प्रभारी को निलंबित किया है। एएसआई अजित सिंह का एक आॅडियो सामने आया है जिसमे वो बदतमिजी से बात करते हुए सुनाई दे रहे है। उनके खिलाफ भी निलंबित की कार्रवाही की गई है। एसडीओपी डाबर ने बताया कि विडीयो को देखते हुए कहा जा सकता है कि थाना प्रभारी नशे की हालत मे थे। किसी के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया है। घटना के बाद एमएलसी के लिए उनको भेजा है। एमएलसी मे क्या आता है उसके बाद कोई कार्रवाही करेंगे। एसडीओपी ने बताया कि थाना प्रभारी ओर एएसआई दोनो डयुटी पर थे, लेकिन थाना प्रभारी सिवील ड्रेस मे थे।

घटना के वायरल विडीयो मे दिखाई दे रहा है कि रायपुरिया थाना प्रभारी ने शनिवार की रात झाबुआ चैराहे पर व्यापार कर रहे ढेला व्यापारियों ओर राहगिरों पर डंडे बरसाने शुरू कर दिए। डंडे की मार झेलने वाले वहां से भागने लगे। जिससे अफरा तफरी व भगदड जैसा माहोल हो गया। ऐसे मे गुस्साए लोगो ने थानेदार की जमकर पिटाई कर दी। जिससे उनके सिर मे चोंट आई ओर उपचार के लिए झाबुआ जिला चिकित्सालपय भेजना पडा। माहोल इतना बिगड गया था की आक्रोशित नागरिक व व्यापारी थाने पर पहुंच गए। पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता ने बताया कि घटना की जानकारी मिलते ही एडिशनल एसपी आनंदसिह वास्कले व एसडीओपी (पेटलावद) सोनू डाबर को रायपुरिया भेज दिया है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि हमें जानकारी मिली है कि थाना प्रभारी नशे मे था। हमने मेडिकल करवाया है। रिपोर्ट आने के बाद स्थिति साफ हो पाएगी। प्रथम दृष्टया कदाचरण परिलक्षित होने के कारण दोनो को निलंबित किया है।