दर्द से कराहते युवक को न 108 मिली न ही 100 डायल, बीच बाजार में तड़पता युवक पड़ा रहा बेहोश

3:54 pm or June 14, 2022
मंडला संवाददाता
 मंडला १४ जून ;अभी तक;  हंड्रेड डायल या 108 एंबुलेंस को फोन किया जाए और शिकायतकर्ता को जवाब मिले कि वाहन उपलब्ध नहीं है, तो ऐसी सेवा का क्या लाभ❓ इसका जवाब आदिवासी बाहुल्य से लेकर अधिकारियों के पास भी नहीं।
                  जिला मुख्यालय के बीच बाजार में एक युवक दर्द से कराहते हुए छटपटाता रहा। स्थानीय व्यापारियों का कहना है कि उन्होंने हंड्रेड डायल और 108 एंबुलेंस दोनों को फोन किया लेकिन दोनों में से कोई भी सेवा उस युवक के लिए उपलब्ध नहीं हुई। फोन पर जवाब मिला कि वाहन उपलब्ध नहीं है। राहगीर भी युवक के पास से आते जाते रहे लेकिन किसी ने भी उसकी मदद करने का भी प्रयास नहीं किया। वे यहीं कहकर आगे बढ़ते गए कि जब हंड्रेड डायल और 108 एंबुलेंस ही उपलब्ध नहीं हो रही है तो हम इस युवक की क्या मदद करें, क्योंकि कुछ अपनी घटना होने पर पुलिस सबसे पहले मददगारो को ही परेशान करती है।
             स्थानीय व्यापारी देवेंद्र कुमार, अंकुश सोनी, विमल कुमार, संदीप चौरसिया आदि का कहना है कि नजदीक ही नगर पालिका, एसडीएम तथा तहसील कार्यालय होने के बावजूद युवक को कोई शासकीय मदद नहीं मिली।
 आदिवासी बाहुल्य जिले में शासकीय सेवाओं के क्रियान्वयन में भर्राशाही बढ़ती जा रही है। इस पर जिला प्रशासन को तत्काल रोक लगानी चाहिए।