दशपुर जागृति संगठन ने की क्रांतिकारी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने एवं भारतीय मुद्रा पर भी फोटो अंकित करने की मांग

10:23 pm or January 24, 2023

महावीर अग्रवाल

मंदसौर २४ जनवरी ;अभी तक;  दशपुर जागृति संगठन द्वारा प्रधानमंत्री राष्ट्रपति से की गई मंदसौर कि 20 जुलाई को देश की आजादी के महानायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती लगातार संगठन द्वारा 8 वर्षों से खड़े खड़े नेताजी का स्मरण करते हुए पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष के साथ ही तीन नगर पालिका अध्यक्ष की सहमति वाले क्षेत्र मैनपुरिया चैराहे पर रिक्त पड़े स्थल पर खड़े होकर नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जीवन पर प्रकाश डालते हुए पुष्पांजलि अर्पित की गईं। साथ ही संगठन के सभी पदाधिकारियों सदस्यों ने मांग की है कि देश के आजादी के महानायक प्रशिक्षण राष्ट्र के लिए जीने वाले प्रथम सेना अध्यक्ष प्रथम आईएएस प्रथम बार महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता कहने वाले संपूर्ण विश्व में भारत की आजादी के लिए जर्मन ब्रिटेन बर्मा घूम घूम कर देश को अंग्रेजों से मुक्त कराने के लिए उनके अत्याचारों से मुक्ति दिलाने के लिए तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा जैसे नारे के साथ ही हजारों मात्र शक्तियों ने नेताजी के आह्वान पर अपने सुहाग की मंगलसूत्र चूड़ियां आजादी की लड़ाई के लिए सौंप दी गई थी ऐसे महान देशभक्त के लिए भारत सरकार से दशपुर जागृति संगठन द्वारा किसी संगठन ने द्वारा मांग की है कि 23 जनवरी को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने के साथ ही देश की भारतीय मुद्रा पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस का चित्र अंकित किया जाए इस अवसर पर संगठन के संरक्षक रविंद्र पांडे ने मांग की है कि जो स्थल वर्षों से चेंज किया गया है उस स्थल पर अगले वर्ष 23 जनवरी 2024 में हम इसी स्थल पर नेताजी का बड़ा स्टेचू के साथ ही गार्डन देखने की मांग करते हैं और अब समय आ चुका है इन महान क्रांतिकारियों को स्थापित होने का डॉक्टर देवेंद्र पुराणिक ने कहा देश का दुर्भाग्य कि आज सब कुछ राष्ट्र के पास है लेकिन क्रांतिकारियों का नाम लेने वाला ना तो राजतंत्र है ना प्रशासनिक तंत्र है यह संगठन ना होते तो शायद इनका स्मरण करना भी दुर्लभ हो जाता।
बी एस सिसोदिया ने कहा कि भारत देश महान क्रांतिकारियों का देश है इस देश के अंदर आजादी को 100 वर्ष से पहले ही हम भूल चुके हैं इसमें कोई कहने में अतिशयोक्ति नहीं है और राजतंत्र में केवल अपने पार्टी अध्यक्षों को और उनके द्वारा जो पार्टी बनाई गई उनका ही स्मरण किया जाता है। क्रांतिकारियों के लिए वर्तमान में समय का राजतंत्र के पास अभाव है नरेंद्र मोदी जी ने जरूर इस और प्रयास किए हैं लेकिन विधायकों सांसदों को भी इस और ज्यादा से ज्यादा काम करने की जरूरत है।
एमपी सिंह परिहार संगठन के संरक्षक ने मांग की है कितना लंबा समय नहीं लगना चाहिए 8 वर्ष का हम अपने प्रयासों को और तेज करें नगर के मुख्य द्वार पर आने वाला स्थान जो सबसे उपयुक्त है वर्तमान में इस स्थल पर शीघ्र नगरपालिका को ध्यान देकर कार्य करने की जरूरत है। देशभक्तों के लिए धन का कभी अभाव नहीं होना चाहिए। हरिशंकर शर्मा ने कहा जिस महान क्रांतिकारी नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने प्रशिक्षण मातृभूमि के लिए जिया उसके लिए देश के सभी जिलों के साथ ही बड़े शहरों में प्रथम पंक्ति के महान क्रांतिकारियों के चैराहों के साथ ही उनका इतिहास पढ़ाया जाना चाहिए शिक्षाविद रमेश चंद्र चंद्रेने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इस दिवस को पराक्रम दिवस घोषित कर दिया गया है। लेकिन इस को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने के साथ देश की बड़ी मुद्राओं पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस का चित्र अंकित किया जाना चाहिए और इनकी संग्रहालय इनका इतिहास हर विद्यालय में पढ़ाया जाना चाहिए।
महेश चंद शर्मा द्वारा आजादी का वह महानायक नेताजी भगत को मैं दिल में कभी भूल ना पाऊं ऐसा मुझे आशीर्वाद देना इनका मरते दम तक बलिदान दिवस जन्मदिवस मनाऊं कहीं भी मैं रहूं लेकिन इनकी यादों में खोया रहूं कविता का वाचन किया गया संगठन के सचिव आशीष बंसल द्वारा दशपुर जागृति संगठन की गतिविधियां तेजी से फैलाने के लिए देश के केंद्रीय मंत्रियों तक 25 लिफाफे गतिविधियों के भेजे जाएंगे प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के पास प्रधानमंत्री राष्ट्रपति के साथ ही हर क्षेत्र में संगठन की गतिविधियों से परिचय कराया जाएगा और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की फाइल को तेजी लाने के लिए सब ने शपथ ली कि हम इस वर्ष सब कुछ बड़ा करने का संकल्प लेते हैं अजीजुल्लाह खालिद ने कहा परिवर्तन का शंखनाद हो चुका है और संगठन की विचारधारा तेजी से फैलने लगी है राष्ट्रीय संगठन भी दशपुर जागृति संगठन के पद चिन्हों पर चल पड़े हैं मजबूर होकर इस छोटे से संगठन का अनुसरण राष्ट्रीय स्तर पर पहुंच चुका है और जो भी देश को तोड़ने के लिए आगे आएगा उसका हश्र बहुत बुरा होगा और भ्रष्टाचार देश में बढ़ रहे अत्याचार पर रोक लगने लगी है और जो भ्रष्टाचारियों वो डरे हुए घूम रहे हैं उन्हें डर सताने लगा है एक संगठन ने मांग की थी एक आधार कार्ड एक संपत्ति यह नारा बुलंद हो चुका है संगठन के सीमा चैसडिया ने संगठन से जुड़कर देशभक्ति के साथ ही हमें कुछ करने का मौका मिलता है मैं धन्यवाद देता हूं दशपुर जागृति संगठन को जिन्होंने लगातार राष्ट्र जागरण का जो कार्य किया है इसके कारण जीने का एक अलग अंदाज है मन में पैदा हुआ है मैं बहुत-बहुत धन्यवाद देती हूं मंजू परमार ने कहा राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने के साथ ही नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती प्रति स्कूल में मनाई जाना चाहिए स्कूल के बच्चों को जब तलक नेताजी की कार्यों की जानकारी नहीं होगी तो देशभक्त कैसे पैदा होंगे संगठन के चंद्र प्रकाश बिश्नोई ने कहा कि संगठन की गतिविधियां लगातार चल रही है यह किस्मत वाले लोग हैं जो महान क्रांतिकारियों को याद करते हुए लगातार लगातार जनता को उनके कार्यों से अवगत करा रहे हैं और यह दुर्भाग्य है कि देश के कई नेताओं को कई विधायक सांसदों को कई जनप्रतिनिधियों को क्रांतिकारियों के बारे में जानकारी ही नहीं मालूम कि उनके कार्य क्या थे उन्होंने क्या बलिदान दिया यदि उनको फोटो दिखाकर पूछा जाए कि कौन सा क्रांतिकारी है तो नहीं बता पाएंगे यदि इस प्रकार से राजतंत्र चला तो यह शुभ संकेत नहीं होंगे इसके लिए संगठन को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने बड़ी मुस्तैदी के साथ 12 वर्ष का लंबा समय तय करते हुए पूरे राष्ट्र को जगा दिया है बीएल राठौड़ ने कहा कि अब समय आ चुका है देश के प्रत्येक कार्यालय में संगठन की गतिविधियां पहुंचने लगी है शाम कहार ने कहा शासकीय सेवा में कार्य करने वाले प्रत्येक कर्मचारी को इन महान देशभक्तों के बारे में जानकारी कराई जाना चाहिए जिसके कारण आने वाले समय में उन्हें महसूस हो सके कि हमें जो कुछ भी मिला ही महान क्रांतिकारियों के बलिदान पर मिला हुआ है हर जयंती प्रातकाल आधे घंटे का समय शासकीय विभाग में निर्धारित किया जाना चाहिए संगठन के संयोजक सत्येंद्र सिंह सोम ने कहा आप की निरंतरता के कारण ही आज समूचे राष्ट्र के अंदर महान क्रांतिकारियों का नाम के साथी बड़े सम्मान के साथ आवाज उठने लगी है और जो देश भक्ति उन्हें अलग जीने का आनंद आने लगा है और गर्व के साथ चैराहे चैराहे पर भ्रष्टाचार से जड़ से उखाड़ फेंकने की बात मुखर होने लगी है मुंह में राम बगल में छुरी वाला काम अब नहीं चलने वाला है यदि आप ईमानदार है तो ही मंच माइक और तिरंगे के हाथ लगाने की ताकत रख पाएंगे नहीं तो जनता आपके बारे में जान चुकी है वह स्पष्ट रूप से अब मुखर होने लगी है संपत जो कई जांच का जो मांग संगठन ने की थी नरेंद्र जी मोदी इसकी भी घोषणा से कर देंगे प्रत्येक उद्योगपति ठेकेदार चार्टर्ड अकाउंटेंट जनप्रतिनिधियों को अपनी संपत्तियों का ब्यौरा देना होगा और जो संपत्ति नहीं बताई जाएगी वह राष्ट्रीय संपत्ति घोषित कर दी जाएगी संगठन द्वारा नगर पालिका अध्यक्ष सांसद महोदय विधायक महोदय को 2024 में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की स्टेचू के समक्ष जयंती बनाने के लिफाफे तैयार करते हुए शीघ्र भेजे जाएंगे यह कार्य इस सप्ताह कर लिया जाएगा बंसीलाल टाक ने कहा 12 वर्ष पहले एक संगठन मंदसौर से चला था। जिसकी आवाज दिल्ली तक गुजरने लगी है और संसद भवन में भी दशपुर जागृति संगठन का नाम पहचाने जाने लगा है यह संगठन के द्वारा लगातार मंदसौर से अपनी गतिविधियां लिफाफे के माध्यम से अवगत करा रहे हैं। यही निरंतरता बड़ा रूप लाएगी इसका मुझे पूर्ण विश्वास है। यह जानकारी संगठन संयोजक सत्येंद्र सिंह सोम ने दी।