दशपुर जागृति संगठन मनायेगा महारानी लक्ष्मीबाई का बलिदान दिवस

10:21 pm or June 17, 2022
नहवीर अग्रवाल 
मन्दसौर १७ जून ;अभी तक;  आजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में  राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर देश को आजाद कराने वाले महान क्रांतिकारियों एवं शहीदों को याद किया जा रहा है। इसी श्रृंखला में मंदसौर नगर में पिछले 12 वर्षों से दशपुर जागृति संगठन लगातार इन महान क्रांतिकारियों के प्रति जागृति लाने का कार्य कर रहा है। संगठन द्वारा समय-समय पर जनप्रतिनिधियों, मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री को राष्ट्रभक्ति से ओतप्रोत लक्ष्य को प्राप्त करने के लिये पत्र लिखे जाते रहे है। जिसका परिणाम हम देख रहे है कि तिरंगा यात्रा और गंगा सफाई अभियान की सफलता देखने को मिलती है। दशपुर जागृति संगठन अपने ध्येय वाक्य ‘कर्म में है विश्वास परिवर्तन की आस’ में पूर्ण विश्वास रखते हुए कार्य कर रहा है। संगठन को विश्वास है कि वह दिन दूर नहीं है जब पूरे देश में इन महान क्रांतिकारियों और शहीदों को पुनः राष्ट्र के नायक का  दर्जा प्राप्त होगा। ये क्रांतिकारी भारतीय मनुष्य के जननायक होंगे। इसी कड़ी में आज 18 जून 2022, शनिवार को  प्रातः 10 बजे दशपुर जागृति संगठन द्वारा महारानी लक्ष्मीबाई प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनका बलिदान दिवस मनाया जायेगा।
                          संगठन के संरक्षक हरिशंकर शर्मा, राजाराम तंवर, एम.पी.सिंह परिहार, रविन्द्र पाण्डे, अरूण शर्मा, बंसीलाल टांक, सुनील बंसल, आर.सी. पाण्डे, सूरजमल गर्ग चाचाजी, अध्यक्ष डॉ. देवेन्द्र पुराणिक, उपाध्यक्ष बी.एस. सिसौदिया, सचिव आशीष बंसल, अजीजुल्लाखान खालिद, अरूण गौड़, बालाराम दडिंग, हरिनारायण टेलर, दिलीप सांखला, के.एल. सोनगरा, केशवराव शिन्दे, महेश शर्मा, मनोज मण्डोवरा, मनोज भावसार, पुष्पेन्द्र बैरागी, रमेशचन्द्र चन्द्रे, रणजीतसिंह भाटी, राजेन्द्र चाष्टा, श्याम कहार, डॉ. वेदपालसिंह, चन्द्रेश विश्नोई, शत्रंुजय सोनी, हरिश कुमावत, विकास भण्डारी, विकास बसेर, मुकेश नागर, लोकेन्द्र पाण्डेय, बिन्दू चन्द्रे, सीमा चौरड़िया, मंजू परमार, मंजू सेन, डॉ. उर्मिला तोमर, महिला इकाई अध्यक्ष प्रेमलता मिण्डा, किरण मंडोवरा, वर्षा बसेर, प्रीति रोखले, सुनीता देशमुख आदि ने संगठन के सभी सदस्यों एवं आमजन मानस से जो संगठन के प्रति श्रद्धा रखता है और महारानी लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस पर अपने भाव प्रकट करना चाहता है ऐसे सभी जनसामान्य को सादर आमंत्रित किया है कि वे सब आज प्रातः 10 बजे महारानी लक्ष्मीबाई चौराहा पर पहुंचकर महान विरांगना को अपनी भावांजलि व्यक्त करे।