दहेज के लिये खुदकुशी के लिये प्रेरित करने के आरोप में पति सहित पांच लोग गिरफतार

मयंक शर्मा
खंडवा 17 जून ;abhi tk;   नवविवाहिता की मौत के मामले में पुलिस ने पति सास ससुर और द्वय देवर सहित सुसराल पक्ष के पांच लोगों पर प्रकरण दर्ज किया है। मामले के जांच अधिकारी  व सीएसपी ललित गठरे ने बताया कि इनके विरूद्ध धारा 304 (बी) में प्रकरण दर्ज कर  बुधवार को न्यायालय में पेश किया है। मृतका के पिता ने दहेज हत्या का आरोप लगाते हुये कहा कि सुसराल पक्ष के लोग कार की डिमांड कर रहे थे। उनका कहना था कि कार नहीं लाएगी तो संतान भी नहीं चाहिए। उन्होंने गोली खिलाकर गर्भपात करने के लिए दबाव बनाया। स्थानीय रामनगर निवासी 23 वर्षीय आरती पति  अंकुर पाल ने त्रस्त होकर गत 4 अप्रैल को घर में  फांसी लगाकर अपनी इहलीली समाप्त कर ली  थी। ं उत्तरप्रदेश की रहने वाली आरती का अंकुर के साथ दो साल पहले विवाह हुआ था। मौत के समय आरती को तीन माह का गर्भ था। नवविवाहिता की मौत का मामला होने से जांच नगर पुलिस अधीक्षक ललित गठरे को सौपी गयी थी। श्री  गठरे ने बताया कि घटना के मृतका  के माता-पिता उप्र में रहते हैं। लाकडाउन के दौरान वे नहीं आ सके लेकिन लाकडाउन खुलने व उनके खंडवा आने पर बयान दर्ज किए गए हैं
                       पिता ने अपने बयान मे कहा कि आरती की शादी के कुछ दिन बाद ही पति, सास, ससुर और देवर कार की डिमांड करने लगे थे।े आरती पर दबाव बनाया कि अपने पिता से कार लेकर आ। आरती ने उन्हें मना कर दिया था। इसके बाद उसे और अधिक प्रताड़ित किया जाने लगा। इस बीच आरती गर्भवती हो गई लेकिन उसे कहा गया कि जब तक कार नहीं आती यह बच्चा ं नहीं चाहिए। इसके लिए उसे जबरदस्ती गर्भपात की गोली खाने के लिए मजबूर किया गया। सीएसपी ने बतायाा कि जांच के बाद मामले में रामनगर चैकी में आरती के पति अंकुर उर्फ रिंकू पिता हरिशचंद्र पाल (29), ससुर हरिशचंद्र पिता बद्रीप्रसाद पाल (57), सास मीना पाल (48), देवर द्वय अर्पित और अनुज (23) निवासी शीतला माता मंदिर के पास पर धारा 304 (बी) में प्रकरण दर्ज कर इन्हें न्यायालय में पेश किया है।