दिल्ली के लिए मिल सकती है ट्रेन, रेल मंत्री के दौरे से जगी उम्मीद

9:01 pm or May 11, 2022
मोहम्मद सईद
शहडोल, 11 मई अभी तक। यदि सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो इस क्षेत्र के यात्रियों को राजधानी दिल्ली के लिए अब एक और ट्रेन मिलने की पूरी उम्मीद है। विश्वसनीय सूत्रों से जो जानकारियां मिली हैं, उसके अनुसार रेल मंत्री श्री अश्विन वैष्णव 14 मई को अंबिकापुर दौरे पर आ रहे हैं और रेल मंत्री श्री वैष्णव अंबिकापुर में इस ट्रेन को हरी झंडी दिखा सकते हैं। यदि ऐसा हुआ तो यह ट्रेन अंबिकापुर से दिल्ली के लिए सीधी ट्रेन होगी।
                सूत्र ऐसा बता रहे हैं कि सरगुजा (छत्तीसगढ़) की सांसद और केंद्रीय जनजाति कार्य राज्य मंत्री रेणुका सिंह इस ट्रेन को प्रारंभ कराए जाने के लिए काफी दिनों से प्रयासरत हैं। इस ट्रेन की मांग को लेकर उन्होंने न सिर्फ रेल मंत्री से मुलाकात कर उन्हें अवगत कराया बल्कि समय-समय पर पत्राचार भी किया है। सांसद रेणुका सिंह ने इस ट्रेन के संबंध में ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के महामंत्री शिव गोपाल मिश्रा से भी चर्चा की थी।
                सांसद रेणुका सिंह द्वारा इस ट्रेन का जो रूट बताया गया है वह अंबिकापुर से प्रारंभ कर अनूपपुर, शहडोल, कटनी के रास्ते प्रयागराज, कानपुर होकर नई दिल्ली है। शहडोल सांसद श्रीमती हिमाद्री सिंह भले ही नागपुर के लिए ट्रेन प्रारंभ न करवा सकी हों और यहां के यात्री रेलवे द्वारा छले जा रहे हैं। लेकिन छत्तीसगढ़ के सरगुजा की सांसद रेणुका सिंह के प्रयासों से इस क्षेत्र के यात्रियों को नई ट्रेन का लाभ मिलने की पूरी उमीद है।
पत्र में यह उल्लेख किया था सांसद ने
                  सरगुजा सांसद रेणुका सिंह ने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को 18 जनवरी, 2022 को लिखे पत्र में उल्लेख किया है कि मेरा संसदीय क्षेत्र सरगुजा (छत्तीसगढ़) जनजाति बाहुल्य तथा एक संभावनाशील औद्योगिक क्षेत्र है, जहां पर कोयला, बॉक्साइट एवं अन्य खनिज संपदा प्रचुर मात्रा में है। कोयलांचल के लिए प्रसिद्ध इस क्षेत्र (अंबिकापुर सरगुजा) से देश की राजधानी दिल्ली तक शिक्षा, चिकित्सा, व्यापार एवं अन्य कार्यों से जनता का लगातार आना-जाना लगा रहता है। मेरा प्रयास है कि अंबिकापुर से नई दिल्ली राजधानी तक एक सीधी ट्रेन की सुविधा हमारे क्षेत्र की जनता को मिले, इसके लिए समय-समय पर पत्राचार एवं आपसे व्यक्तिगत रूप से मिलना भी हुआ है।
                सांसद ने पत्र में उल्लेख किया है कि इस यात्री ट्रेन को अंबिकापुर से प्रारंभ कर अनूपपुर, शहडोल, कटनी के रास्ते प्रयागराज, कानपुर होकर नई दिल्ली तक लाना सुगम होगा। अब देखने वाली बात यह है कि 14 मई को रेल मंत्री इस ट्रेन की सौगात देते हैं या फिर यह ट्रेन महज चर्चाओं तक ही सीमित होकर रह जाएगी।