दिवाली पर पटाखे नहीं फोड़ने वाले बच्चों का बड़े साथ ओसवाल महिला मंडल ने किया सम्मान

6:14 pm or November 16, 2021
महावीर अग्रवाल 
मन्दसौर १६ नवंबर ;अभी तक;  भगवान महावीर के सिद्धांत ‘‘अहिंसा परमो धर्म’’ को अंगीकार करते हुए लगभग 75 बच्चों ने दिवाली पर्व पर पटाखे नहीं फोड़ने का नियम लिया, जिनका बड़े साथ ओसवाल महिला मण्डल द्वारा गुप्त दानदाताओं के सहयोग से बहुमान किया।
             उक्त जानकारी देते हुए मंडल उपाध्यक्ष हेमा हिंगड ने बताया कि कई जन्मों के पुण्य के बाद हमें मनुष्य जीवन मिला है तो हिंसा कर कर्मों का बंद क्यों करें, पटाखे नहीं जला कर उन पैसों से जरूरतमंद की मदद करें, इस भव और परभव को भी सुधारें। पटाखों सेे पर्यावरण को भी नुकसान है जिससे मनुष्य को कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है।
             इस अवसर पर मुख्य अतिथि बड़े साथ ओसवाल समाज के अध्यक्ष अजीत संघवी ने बच्चों की अनुमोदना करते हुए कहा कि बाल्यकाल में ही बच्चे अगर सद्मार्ग और सद्कार्यों से जुड़ जाते है तो भविष्य में वे अच्छे नागरिक बनकर समाज और देश के उत्थान का कार्य करते है। आपने महिला मंडल के कार्यों की सराहना की। कोषाध्यक्ष हिम्मत कोचट्टा ने आजीवन पटाखों का त्याग करने वाले बच्चों की सराहना करते हुए जैन धर्म के सिद्धांतों पर चलने की शिक्षा दी।
             महिला मण्डल ने आजीवन त्याग करने वाले रूत्वी चौरडिया, चारवी रांका, पर्ल दुग्गड़, मेहुल चौधरी, वैभव चौधरी, आशी मारू, मिताशी जेतावत, चैतन्य जेतावत, प्रियांशी कियावत, मीतांशी कियावत, निलांशी जैन, साक्षी जैन आदि का मोमेंटो प्रदान कर सम्मान किया गया।
              अतिथियों का स्वागत पूर्व उपाध्यक्ष निर्मला मेहता, मंत्री जमुना बाफना, परामर्शदाता शशि मारू, संगठन मंत्री दिव्या कांकरिया, पूर्णिमा चौरड़िया, वीणा नाहटा, मधु चौरड़िया, चंदा संचेती, इंदू चौधरी, प्रीति लोढ़ा, कल्पना संघवी, पुष्पा रांका आदि ने किया। संचालन राखी नाहर आभार जमना बाफना ने माना।