दीपावली के पावन पर्व पर श्री प्रेमप्रकाश आश्रम में भगवान लक्ष्मी नारायण का श्रृंगार कर की गई महाआरती 

4:38 pm or November 6, 2021
महावीर अग्रवाल 
मन्दसौर 6 नवंबर ;abhi tk;  दीपावली के पावन पर्व के उपलक्ष्य में 6 नवंबर शुक्रवार को सद्गुरु स्वामी टेऊँराम जी महाराज के श्री प्रेम प्रकाश आश्रम में भगवान श्री लक्ष्मीनारायण की प्रतिमा की सुन्दर सोलह श्रृंगार कर मनोरथ किया गया जो देखते ही बन रहा था।
                       इस आशय की जानकारी पुरुषोत्तम शिवानी  ने देते हुए बताया कि दरबार सा. में प्राण प्रतिष्ठा सतगुरू टेऊँराम जी महाराज की प्रतिमा का भी अभिषेक कर श्रृंगार किया गया तथा सतगुरु सर्वानंद जी महाराज, सतगुरु शान्ति प्रकाश जी महाराज, सतगुरू हरिदासरामजी महाराज की मूर्तियों के श्री विग्रहों को भी नये वस्त्रों से श्रृंगार कर सजाया गया था। मंदसौर नगर में सनातन धर्मियों व सिन्धी समाज में श्री प्रेम प्रकाश आश्रम का नाम प्रमुखता से लिया जाता है। हिन्दू सिन्धी समाज के सभी वार त्यौहारों को बड़ी ही प्रमुखता व विधि विधान के साथ मनाया जाते है। इसी कड़ी में दीपावली पर्व हमारे हिन्दू समाज का प्रमुख त्यौहार है उसे भी प्रमुखता के रूप में दीपावली स्नेह मिलन के रूप में दिव्य सत्संग कर मनाया गया क्योंकि सत्संग का तात्पर्य अपनी सोच, विचार व दृष्टि में परिवर्तन लाना है। अगर मनुष्य की दृष्टि में परिवर्तन आया तो मनुष्य का जगत के साथ व्यवहार व अनुभव भी बदलेगा और उसी से आपको जीवन में सकारात्मक विचारों से शक्ति, प्रेम का अनुभव प्राप्त होगा। इस पावन स्नेह दीपावली मिलन में सैकड़ों की संख्या में पधारे संगत ने सबसे पहले भगवान श्री लक्ष्मीनारायण व श्री मंदिर में प्रतिष्ठित गुरूदेवों के द्विव्यतम श्रीविग्रहों की पूजा अर्चना कर मंगल कामना की तथा छोटो ने बड़ों केा प्रणाम कर आशीर्वाद प्राप्त किया व बड़ों ने खुब आशीष व आशीर्वाद देकर आपसी भाईचारे, प्यार व मोहब्बत की कामना की।
               अन्त में भगवान श्री लक्ष्मीनारायणजी, आचार्य सतगुरू स्वामी टेऊँरामजी महाराज व गुरूदेवों की महाआरती की जिसमें पूज्य सिन्धी जनरल पंचायत के अध्यक्ष पं. विनोद शर्मा, सेवा मण्डली के अध्यक्ष पुरूषोत्तम शिवानी, महिला मण्डली की अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा पमनानी, भाई बंध पंचायत के अध्यक्ष नन्दू आडवानी, गिरीश भगतानी दयाराम जैसवानी, श्यामलाल खेमानी, भगवान दास आसवानी, चन्दीराम चंदानी, वासुदेव सेवानी,  हरिश उत्तवानी, मेघराज कोठारी, राजकुमार लालवानी,मोहनदास फतनानी, भगवानदास बम कोठारी, नरेश कोटवानी, शिवकुमार पमनानी,प्रितम खैमानी, हरिश, सुन्दरदास आसवानी, दिनेश पमनानी, मनोहर नैनवानी,दिनेश सेवानी, सहित सेकंडों प्रेमियों ने गुरु की दरबार साहिब में पधार कर मत्था टेककर भगवान व सतगुरु का आशीर्वाद प्राप्त किय।
शनिवार से कार्तिक महोत्सव की कथा का आरंभ
                    शिवानी ने बताया कि कार्तिक महोत्सव की कथा का प्रारंभ दिनांक 6 नवंबर सतगुरु स्वामी टेऊराम जी महाराज के पावन जन्मोत्सव एवं भगवान श्री झूलेलाल जी के अवतार दिवस चंद्र दर्शन चण्ड के दिन प्रातः अमृत वेला में श्रीमती पुष्पा पमनानी ने अपने मुखारविंद से आरंभ की जो प्रतिदिन प्रातः 7 बजे होगी और इसका समापन भोग कार्तिक पूर्णिमा 19 नवंबर शुक्रवार के दिन प्रातः अमृत वेला में संपन्न होगा, सिंधी समाज की धर्म प्रेमी सज्जनों से निमानी विनती की जाती है कि आप अधिक से अधिक संख्या मैं कार्तिक महोत्सव की कथा का श्रवण करें।