दुष्कृत्य  करने वाले सोतेले पिता को हुआ आजीवन कारावास

7:47 pm or September 19, 2022
विधिक संवाददाता
    इंदौर १९ सितम्बर ;अभी तक;  जिला अभियोजन अधिकारी श्री संजीव श्रीवास्तव ने आज बताया कि दिनांक 17/09/2022  न्यायालय- श्रीमती सुरेखा मिश्रा, तेरहवें अपर सत्र न्याायाधीश एवं विशेष न्यायाधीश (पॉक्सो एक्ट) इंदौर में थाना राजेन्द्र नगर के अपराध क्रमांक 485/2019 जिला इंदौर में निर्णय पारित करते हुए आरोपी xyz को धारा 376(2)(3)(एन)(एफ) भादवि में आजीवन कारावास जिसका अभिप्राय शेष प्राकृत जीवनकाल के लिये होगा एवं धारा 506 भादवि में 07 वर्ष का सश्रम कारावास व कुल छ: हजार रूपये मात्र अर्थदण्ड से दण्डित किया गया । प्रकरण में अभियोजन कि ओर से पैरवी विशेष लोक अभियोजक श्रीमती सुशीला राठौर एवं एडीपीओ पदमा जैन द्वारा की गई  ।
                      अभियोजन कहानी संक्षेप में इस प्रकार है कि दिनांक 03/07/19 को बालिका ने पुलिस थाना राजेन्द्र नगर, इंदौर में इस आशय कि रिपोर्ट दर्ज करायी कि वह कक्षा आठवीं में पढती है तथा अपनी मॉ, भाई व सोतेले पिता आरोपी xyz और सोतेले भाई साथ इंदौर में किराये के मकान में रहती हूं। उसके पिता की पॉच वर्ष पूर्व एक्सीिडेंट होने से मृत्यु हो गई थी। उसकी मॉ ने आरोपी xyz से दूसरी शादी कर ली थी । उसकी मॉ के एक पैर में बिमारी होने से वह रात में दवाई खाती है जिससे उन्हें  नशा हो जाता है । दिनांक 06/01/2019 की रात में जब उसकी मॉ गोली खाकर सो गई थी और उसके भाई सो रहे थे तो उसका सोतेला पिता आरोपी xyz रात में उसके पास आया और उसका मुंह दबाकर गलत काम करने लगा । वह दर्द से रोने लगी तो आरोपी xyz उससे बोला कि किसी को कुछ बताया तो जान से मार दूंगा । उसने डर के कारण मॉ को नहीं बताया । इसके बाद उसके सोतेले पिता आरोपी xyz ने दो-तीन महीने तक रात में कई बार उसके साथ गलत काम किया । उसने एक महीने पहले हिम्मात करने सारी बात मॉ को बताई, तो आरोपी xyz ने उसे व उसकी मॉ को जान से मारने की धमकी दी और मारा-पीटा । दिनांक 03/07/19 को उसके घर में उसकी मॉ से कोई पहचान वाले उसकी शादी की बात कर रहे थे तो वह घर से बाहर आ गई और पडोस में दादी के घर चली गई तो उसके पिता आरोपी xyz उसे लेने आये तो उसने जाने से मना कर दिया तो वे चले गये । फिर दादी ने पूछा कि वह घर क्योंो नहीं जा रही है तो उसने दादी को बताया कि उसके पापा उसके साथ गलत काम करते है इसलिये वह घर नहीं जायेगी । फिर दादी ने पुलिस को फोन कर दिया । सम्पू र्ण विवेचना उपरांत आरोपी के विरूद्ध धारा 376(2)(च),376(2)(आई),376(2)(एन),506 भादवि एवं 5(एल)/6, 5(एन)/6 पॉक्सोी एक्ट) के अंतर्गत अभियोग पत्र न्या3यालय में पेश किया गया । जिस पर से आरोपी को उक्ती सजा सुनाई  गई ।