दूध,फल व प्राकृतिक पदार्थ का सेवन कर 125 वर्ष की आयु में स्वस्थ है,स्वामी सर्वानंद सरस्वती।

8:06 pm or August 2, 2022

महावीर अग्रवाल

मन्दसौर , मल्हारगढ़ २ अगस्त ;अभी तक;  सत्यार्थ प्रकाश से प्रेरित होकर वैराग्य जीवन मे कदम रखने वाले सिध्द बाबा का जन्म जबलपुर के ब्रामण परिवार में हुवा था उनके पिता गया प्रशाद त्रिपाठी,तथा माता कमलामती त्रिपाठी पूनोर जिला जबलपुर है।मंगलवार को इनके शिष्य मल्हारगढ़ ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा जिला कंग्रेस के सचिव कन्हैयालाल पाटीदार ने गांव खेड़ा खदान स्थित उनके आश्रम पर पहुंचकर स्वामीजी का आशीर्वाद प्राप्त किया।

स्वामीजी ने कहा कि आज युवाओं को गुरुकुल में जाकर अध्ययन करना चाहिये,संध्या करना चाहिए आसन,व्यायाम,प्राणायाम प्रतिदिन करना चाहिए।शुद्ध आहार का सेवन करे,सभी मिलावटी चीजो का बहिष्कार करे उन्होंने बताया कि गाय का दूध काफी उपयोगी है इसके उपयोग से अनेक रोग स्वतः ही दूर होजाते है। आर्गेनिक सब्जियों का अधिक उपयोग करे ना कि बाजार की सब्जियों का तभी आयु को जीत सकते है।यही जीवन का मूल मंत्र व सन्देश है।
स्वामीजी आठ दशक से लगातार सभी जगह गुरुकुल एवं महाविद्यालय में पहुंचकर योगाभ्यास करवा रहे है।
स्वामीजी का खेड़ा से लगाव
स्वामीजी का खेड़ा,निनोरा बरखेड़ापथ,कनघट्टी,सुपडा आदि गांवों से काफी लगाव रहा है क्षेत्र में इनके काफी शिष्य है।खेड़ा के इंद्रदेव जी गुर्जर ने तो स्वामीजी के रहने के लिए खेत पर आश्रम भी बना रखा है।
ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा भी उनके शिष्य है शर्मा ने बताया कि में जब बरखेड़ापथ रहता था और चौथी कक्षा में था तब स्वामी जी हमे शाम को प्राथमिक विद्यालय भवन में टाटपट्टी पर लालटेन में व्यायाम सिखाते थे और प्रातः जल्दी उठाकर व्यायाम कसरत करवाते थे।
इस मौके पर मंडलम अध्यक्ष कन्हैयालाल गुर्जर, ब्लॉक कांग्रेस महाज़मन्त्री अनिल मुलासिया भी मौजूद थे।