देव संस्कृति विश्वविद्यालय उपकुलपति डॉ चिन्मय पंड्या द्वारा लक्ष्मीबाई का जन्म दिवस ऐतिहासिक रूप से मनाने का आह्वान

9:18 pm or November 18, 2021
महावीर अग्रवाल 
मन्दसौर १८ नवंबर ;अभी तक;  अखिल विश्व गायत्री परिवार के संस्थापक वेद मूर्ति पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा 21वीं सदी नारी सदी का उद्घोष किया गया था। भारत के अंदर एक नई क्रांति बहनों के द्वारा की जाएगी ऐसी भविष्यवाणी आज से 50 वर्ष पूर्व कर दी गई थी उसी संदर्भ में अखिल विश्व गायत्री परिवार के देव संस्कृति विश्वविद्यालय के उपकुलपति डॉ चिन्मय पंड्या द्वारा पूरे भारत के अंदर घर-घर दीपक लगाने का आह्वान किया गया है। जहां भी लक्ष्मीबाई की प्रतिमा स्थल है उसे सजाने एवं दीप प्रज्वलन करने की देश के जागरूक नागरिकों से आव्हान किया गया है।
                         बच्चियों के साथ बढ़ते बलात्कार और मातृशक्ति का लगातार शरीर प्रदर्शन पर रोक लगाने के लिए देश के जवाबदार फिल्म इंडस्ट्रीज और विज्ञापन कंपनियों पर तत्काल रोक लगाने की मांग जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों से की गई है आने वाले समय में भारत जो विश्व गुरु का सपना देख रहा है उसका मुख्य मातृशक्ति रहेगी। 19 नवंबर लक्ष्मी बाई के जन्मदिवस पर संध्या 7.30 बजे प्रत्येक घरों पर और लक्ष्मी बाई प्रतिमा स्थल पर दीप प्रज्वलन का कार्यक्रम रखा गया है। युवा प्रकोष्ठ के प्रभारी जितेंद्र सिंह पंवार ने बताया की युवा शक्ति को गायत्री परिवार के 100 सूत्री कार्यक्रम से एक कार्यक्रम अपने हाथ में लेना होगा इसकी शुरुआत हम देश के महान लक्ष्मी बाई के जन्मदिवस से प्रारंभ करेंगे लगातार गायत्री परिवार नशा मुक्ति दहेज उन्मूलन मृत्यु भोज मनुष्य में देवत्व का अवतरण धरती को स्वर्ग बनाने के लिए प्रत्येक कार्यकर्ता कार्य कर रहा है और आने वाले समय में भविष्यवाणी की है जो लोग भी भ्रष्टाचार से धन कमा रहे हैं उनके ऊपर भी प्रकृति प्रहार करेगी। यह जानकारी गायत्री परिवार के प्रबंध ट्रस्टी पन्नालाल मालवीय द्वारा दी गई