दो अलग अलग हत्या  का मास्टरमाइंड सहित पांच गिरफ्तार, सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कर रहे थे साजिश’

मयंक शर्मा
खंडवा ४ सितम्बर ;अभी तक;  सिटी पुलिस को बड़ी सफलता मिली है जिसने शहर के मुख्य दो हत्याकांड के मास्टरमाइंड खुले में घूम रहे थे उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है ।पुलिस अधीक्षक ने कहा शहर की फिजा बिगाड़ने वाले लोगों के विरुद्ध पुलिस हमेशा कड़ी कार्रवाई करती जाएंगी चाहे कोई भी हो ।

पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह ने बताया कि रेलवे माल गोडाउन पर हाफिज हत्याकांड के मुख्य आरोपी को उज्जैन से गिरफ्तार किया है। इसी ममाले में पूर्व में आरोपी निगम पटेल आनंद पाराशर पवन चैहान तथा सोनू पटेल को गिरफ्तार किया गया था ।  घटना की साजिश रचने वाले निखिल देवारे और सहयोग करने वाले अमित जैन को गुरूवार को गिरफ्तार किया है वही धनराज हत्याकांड के आरोपी फिरोज सोनू अशफाक जुबैद को गिरफ्तार किया है ।

उन्होने बताया कि इन घटनाक्रम पर नजर डाली तो बदले की भावना के संकेत मिले। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीमा अलावा तथा प्रकाश परिहार  तथा नगर पुलिस अधीक्षक  ललित गठरे के नेतृत्व में टीम गठित की गयी। गत 20.जुलाई को  हाफीज की हत्या की गयी ।नईम पिता हमीद निवासी गुलमोहर कालोनी द्वारा सूचना दी कि उसके भाई हाफिज की दो अज्ञात आरोपियों के द्वारा माल गोदाम पर चाकू व पिस्टल से वार कर हत्या कर दी है ।धारा 302 , 34 भादवि का पंजीबद्ध किया जाकर विवेचना मे लिया गया जिसमे विवेचना के दोरान प्रकरण में धारा 201 , 212 भादवि तथा आर्स एक्ट की धाराएं बढ़ाई गई व प्रकरण से संबंधित आरोपी निगम पटेल , आनन्द पाराशर , पवन चैहान , तथा सोनू पटेल को पूर्व मे गिरफतार किया। इन आरोपियों के द्वारा अपने कथनों में बताया गया था कि उन्हे उक्त प्रकरण को अंजाम देने के लिये निखिल देवारे ने योजनाबद्ध तरीके से समझाईश दी थी । पश्चात प्रकरण के फरार आरोपी निखिल देवारे को गिरफतार करने हेतु लगातार गिरफतारी टीम द्वारा इंदौर , देवास व ललितपुर में अनेक स्थानों पर दबिश दी गई। अंतत‘  निखिल देवारे की  03.सित. को उज्जैन से घरदबोच लिया गया। पकड की जाकर आरोपी को गिरफतार किया जाकर पूछताछ करने पर आरोपी निखिल द्वारा बताया गया कि उसके द्वारा अमित जैन के साथ मिलकर उक्त प्रकरण की घटना को अंजाम देने की साजिश रची थी ।

एसपी ने बताया कि पाया गया कि योजनाबद्ध  हत्याकांड में  दो ऐसे व्यक्तियों की तलाश की गयी थी . जिनका पहले का कोई आपराधिक रिकार्ड न हो । यह काम अमित जैन के द्वारा निखिल देवारे को दिया गया था । निखिल देवारे के द्वारा इस कार्य हेतु निगम पटेल व आनन्द पाराशर को तेयार किया गया । जिन्होने घटना को अंजाम दिया । प्रकरण के आरोपी निखिल देवारे के कथनानुसार प्रकरण में आरोपी अमित जैन को 4 से अधिक पुलिस टीम तैयार कर घेरेबंदी कर गिरफतार किया गया । प्रकरण के दोनो आरोपियों द्वारा अपना जुर्म करना स्वीकार करते हुए उक्त प्रकरण की घटना के संबंध मे अपना मकसद बताते हुए कहा कि  29.अप्रेल को ग्राम हापला दीपला गाँव मे एक समुदायक विशेष के व्यक्ति द्वारा अन्य धर्म के व्यक्ति के ईष्ट के विरूद्ध आपत्तीजनक पोस्ट की थी । जिस पर से थाना कोतवाली पर अपराध धारा 153 क , 188 भादवि व 67 आई टी एक्ट का पंजीबद्ध किया जाकर विवेचना मे लिया गया ।

                  इस पोस्ट के कारण ही आगामी समय मे दोनो पक्षों के मध्य विवाद के चलते  18.मई को आरएसएस कार्यकर्ता राजेश फूलमाली  की हत्या हो गई थी । इस हत्या के बदला लेने की नियत से मुस्लिम धर्म के किसी भी व्यक्ति की हत्या करने की योजना बनाकर 20 जुलाई को 55 वर्सी ट्क ड्ायवर हफिज ¤की हत्या को अंजाम दिया गया।

एसपी ने बताया किहाफिज हत्याकांड में 06 आरोपीयों को गिरफतार किया है।

 

 

 

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *