दो हिरणो के शिकार के बाद विभाग सक्रिय ‘ अज्ञात शिकारी की तलाश।

मयंक शर्मा

खंडवा १४ सितम्बर ;अभी तक;  वनविभाग की टीम हिरण का शिकार होेने की खबर मिलने पर ग्राम सोनखेडी पहुंची तो मौके से कुछ दूरी पर एक काले हिरण के अवशेष भी मिले हैं। इसका भी शिकार होने की संभावना है।

वन विभाग ने शव व अवशेषों का पंचनामा बनाकर अज्ञात शिकारी के विरुद्ध वन अधिनियम में प्रकरण दर्ज किया है। पोस्टमार्टम में मादा हिरण के शरीर में करीब छह छर्रे मिले हैं। रविवार को एक खेत में मृत हिरण के मिलने के बाद टीम पहुंख्ी थी।

वन मंत्री विजय शाह के निवा्रचन क्षेत्र के ग्राम सोखेडी में । मादा हिरण का शनिवार रात छर्रे वाली बंदूक से शिकार किया जाना पाया गया है, वहीं शिकार बनाया गया काले हिरण के अवशेष के बाद दोहरे कत्ल की गुत्थी सुलझने में टीम जुंट गयी है।

श्री शाह के विधानसभा क्षेत्र के जंगलों में सागौन के पेड़ों की अवैध कटाई और वन्य प्राणियों के शिकार की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। एक ओर मंत्री स्वयं पैदल जंगलों का दौरा कर वन संरक्षण के लिए प्रयासरत हैं वहीं वन भूमि पर अतिक्रमण, पेड़ों की कटाई और शिकार थम नहीं रहा है।

पिछले एक सप्ताह से अपने ही गृह जिले में आदिवासियो व वन कर्मियो में चल रहा आपसी तनाव व मुठभेड के बाद खडी चुनौतियो से परेशान वनमंत्री ग्रामो का दौरा करते करते स्वयं कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गये है। रविवार देर रात स्वयं उन्होने ट्वीट कर यी जानकारी दी।

सिंगाजी वन परिक्षेत्र के ग्राम सोनखेडी से चार वर्ष की आयु का कृष्ण मृग (मादा) का शव एंव ब्लैक बग (नर) के सींग व कुछ अवशेष जब्त कर टीम वन परिक्षेत्र कार्यालय ले गयी है।

ं डीएफओ एमआर बघेल ने बताया कि शिकारी की निशाना बनी मादा हिरण गर्भ से थी। वह ब्लैक बग प्रजाति की है। उन्होने बताया कि मृत हिरण व काले हिरण के अवशेष के सैंपल सागर और जबलपुर लैब में जांच के लिए भेजे जाएंगे। अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध वन प्राणी अधिनियम अंतर्गत प्रकरण दर्ज किया है। शिकारी की तलाश कर रहे हैं।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *