धमाचौकड़ी मचा रहे आटो, यातायात बाधित बन रही अव्यवस्था, कार्रवाई के बाद भी स्थिति जस की तस

10:59 pm or January 5, 2022

नारायणगंज से प्रहलाद कछवाहा

मंडला 05 जनवरी ;अभी तक;  मंडला शहर में ऑटो चालक कार्रवाई के बाद भी अपनी मनमानी करते नजर आ रहे है। शहर की सड़कों पर सैकड़ों सवारी ऑटो चल रहे है। यातायात व्यवस्था दुरूस्त करने के लिए लगातार कवायद होती रहती है, लेकिन व्यवस्था नहीं सुधर रही। ऑटो चालकों की मनमानी बढ़ती जा रही है। ऑटो चालक मार्ग पर ऑटो लगाकर जाम करते हैं। शहर में जहां मन किया वहीं ऑटो खड़ी कर दी। एक मिनट के ठहराव की तो बात ही नहीं रही। सुपर मार्केट के पास, चौपाटी के सामने, रेडक्रॉस के पास, बड़ चौराहा समेत अन्य भीड़ वाले क्षेत्र में ऑटो चालक अपना वाहन रोक कर सवारी भरते नजर आते है। जिसके कारण यातायात बाधित होता है।

             बता दे कि जिला मुख्यालय में आटो चालकों की धमाचौकड़ी से यातायात व्यवस्था चौपट हो गई है। यहां व्यस्तम क्षेत्र में ऑटो पहुंच रहे है। जिसके चलते यहां अव्यवस्था की स्थिति बन जाती है। शहर के मुख्य स्थानों में जाम लग रहे है। जिसके कारण दोपहिया वाहन और पैदल राहगीरों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। ऑटो चालकों को समझाईश देने के बाद भी मनमानी कर रहे है। विगत दिवस भी 100 से अधिक ऑटो चालकों पर कार्रवाई की जा चुकी है, इसके बाद भी ऑटो चालक बेतरतीब वाहन खड़े कर रहे है। स्थानीय प्रशासन और पुलिस का इस ओर ध्यान नहीं है।

                  जानकारी के मुताबिक मंडला जिला मुख्यालय में यातायात व्यवस्था पटरी से उतर गई है। यहां शहर में अतिक्रमण के बाद शहर की सड़क सकरी है। इसके बाद यहां आटो की धमाचौकड़ी मुसीबत बन गई है।  शहर के व्यस्तम इलाके में ऑटो बेरोकटोक दौड़ रहे है। चौपाटी से लेकर बड़ चौराहा और बड़ चौराहा से बस स्टैंड, उदय चौक तक आटो का मजमा देखा जा सकता है। जिसके कारण यहां अव्यवस्था की स्थिति निर्मित हो रही है। चौक चौराहा में यात्रियों के इंतजार में आटो को खड़ा किया जा रहा है। जिसके कारण ऑटो के शहर में प्रवेश के कारण सड़क में पैदल चलना भी मुश्किल हो रहा है। यहां जाम की स्थिति बन रही है।

कहीं भी बना रहे स्टेंड:

                    जिला मुख्यालय में ऑटो स्टेंड के लिए चार स्थानों में अस्थाई ऑटो स्टैंड बनाये गये थे, ज्ञापदीप स्कूल, बस स्टैंड, डिंडौरी नाका और झूलापुल के पास स्टैंड बनाया गया है लेकिन कुछ ऑटो निर्धारित स्टैंड में खड़े होते है। डिंडौरी नाका से आने जाने वाले सभी वाहन पड़ाव से लेकर चिलमन चौक पर खड़े हो रहे हैं। यही से यात्रियों को ले जाया जा रहा है। ज्ञानदीप के पास आटो जरूर खड़े हो रहे है, लेकिन यहां से भी कुछ वाहन चौपाटी, तहसील तिराहा, बड़ चौराहा तक देखे जा सकते है। जिससे यहां अव्यवस्था बन रही है।

विवाद की स्थिति बन रही:

शहर में आटो के साथ गामा, ट्रेक्स, कमांडर और अन्य वाहन की चल रहे है। इन वाहनों द्वारा यात्रियों को अपने गतंव्य तक पहुंचाने बैठाया जा रहा है। डिंडोरी रोड में सवारी वाहन लंबी दूरी तक चल रहे हैं। जिससे इन यात्री वाहनों और बस संचालकों के बीच आये दिन विवाद की स्थिति बन जाती है। जिसके कारण यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस समस्या के लिए स्थानीय प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है।

कार्रवाई के बाद भी मनमानी :

बता दे कि जिला मुख्यलाय में सवारी ऑटो वाहन समेत अन्य सवारी वाहनों पर यातायात पुलिस समय-समय पर कार्रवाई करती है। वाहनों के दस्तावेजों के साथ क्षमता से अधिक सवारी बैठाने और यातयात नियमों का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जाती है। लगातार हो रही कार्रवाई के बाद भी सवारी ऑटो वाहन चालक अपनी मनमानी ही करते है। ऑटो चालकों को मना करने के बाद भी सवारी वाहन कहीं भी खड़े हो रहे है। समझाईश देने के बाद भी इनमें सुधार नहीं हो रहा है। जिसके कारण इन वाहन चालकों पर सख्त कार्रवाई करने की जरूरत है। जिससे समस्या का निराकरण नहीं हो रहा है।