धूमधाम से मनाया गया मां पीतांबरा जन्मोत्सव

7:52 pm or May 9, 2022
प्रहलाद कछवाहा
मंडला ९ मई ;अभी तक;  सोमवार को मां पीतांबरा का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर पीतांबरा मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पूजन अर्चन के लिए पहुंचे थे। बड़ी खैरी स्थित मां पीतांबरा मंदिर में भी सुबह से शाम तक श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा है। यहां मां भगवती का आकर्षक रूप में श्रंगार किया गया था। सुबह पूजन हवन के बाद विशाल भण्डारा का आयोजन किया गया जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रसाद गृहण किया।
                     बड़ी खैरी स्थित मां पीतांबरा मंदिर के पुजारी पं. ओम प्रकाश मिश्रा ने बताया कि हिंदू पंचांग के अनुसार वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को मां पीतांबरा जिन्हें बगलामुखी भी कहा जाता है, उनका जन्मोत्सव मनाया जाता है। पंडित जी ने बताया कि मां पीतांबरा दस महाविद्याओं में से एक मानी जाती हैं। कहा जाता है कि देवी को पीला रंग बहुत प्रिय है. मां पीले वस्त्र धारण करती हैं. इसलिए इन्हें माता पीताम्बरा के नाम से भी जाना जाता है।
                      पं. ओमप्रकाश मिश्रा ने बताया कि मंदिर में सुबह से श्रद्धालु पूजन-अर्चन के लिए पहुंचने लगे थे,  सभी कार्यों में सफलता मिले एवं घर में सुख-समृद्धि बनी रहे इसके लिए भक्त इनकी पूजा-अर्चना करते हैं। महाराज ने कहा कि मां बगलामुखी की उपासना से मनुष्य की दुर्लभ से दुर्लभ इच्छाओं की पूर्ति होती है। मां बगलामुखी की आराधना करने से मनुष्य को शक्ति प्राप्त होती है और उसके सभी कार्य पूर्ण होते हैं। मां का एक रूप शत्रुनाश देवी का भी माना जाता है. यदि किसी व्यक्ति को अपने शत्रु से बचना है तो मां बगलामुखी की पूजा श्रेष्ठ मानी जाती है।