नंदू भेयया के गृह नगर मेें ही समस्याओ का अंबार की तस्वीर पेश कर मतदान बहिष्कार की चेतावनी।

मयंक शर्मा
खंडवा 20 अक्टूबर ; अभी तक ;   विकास पुरूष .. निमाड की नैयया नंदू भैयया जैसे नारों को गूंजाकर
समूचे खंडवा संसदीय क्षेत्र में जीत का दिवास्वप्न देख  रही भााजपा के
सामने 6 बार के सांसद विजेता स्व.नंदकुमार सिंह चैहान के गृह नगर शाहपुर
के मतदाताओ ने अवरूद्ध विकास की तस्वीर व उपचुनाव बहिष्कार का डंका बजाकर
पार्टी प्रत्याशी व जिला पंचायत  के पूर्व अध्यक्ष ज्ञानेश्वर पाटिल के
सामने चुनौती खडी कर जीत पर पेंच खडे कर दिये है। शाहपुर नगर पंचायत के
अध्यक्ष से राजनीति में प्रवेश कर चार दशको से सक्रिय सियासत करने वाले
नंदू भैयया का उनके गृह नगर के नगरवासियो ने आईना रखते हुये लोकसभा
उपचुनाव का बहिष्कार किए जाने की चेतावनी  दे दी  है।
                  धैर्यशील कॉलोनी (शाहपुर )की महिला, पुरुषों ने एकत्रित होकर  मगलवार को
कॉलोनी में मूलभूत समस्याएं जैसे रोड, पेयजल समस्या, नालियों की निकासी,
जल जमाव, स्ट्रीट लाइट आदि समस्याओं को लेकर उपचुनाव में मतदान नहीं करने
का निर्णय लिया है।
                 कॉलोनी के नरेंद्र नंबरदार, तुकाराम महाजन, यादवराव नारायण, विजय राठौड़,
बाबूराव सोनोने, दीपेश राठौर, सुनील जैन ने आदि ने  चेतावनी के साथ
संयुक्त रूप से कहा कि कॉलोनाइजर इंद्रसेन देशमुख ने प्लाट देते समय
कॉलोनी में मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराने का विश्वास दिया था। अब कॉलोनी
में सभी के मकान निर्माण होने के उपरांत यहां मूलभूत समस्याओं से
कॉलोनीवासी परेशान हैं।  श्री नंबरदार ने कहा कि धैर्यशील नगर के
रहवासियों का धैर्य मूलभूत सुविधाएं नहीं मिलने से जवाब दे गया है। जिसके
बाद उन्होंने मंगलवार को कॉलोनी में बैनर हाथ में लेकर नारेबाजी कर विरोध
जताया। धैर्यशील कॉलोनी की महिला, पुरुषों ने एकत्रित होकर कॉलोनी में
मूलभूत समस्याएं जैसे रोड, पेयजल समस्या, नालियों की निकासी, जल जमाव,
स्ट्रीट लाइट आदि समस्याओं को लेकर उपचुनाव में मतदान नहीं करने का
निर्णय लिया है।
बेनर लेकर प्रदर्शन दोरान आगे कहाकि कईं बार अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों
को समसयाओं से अवगत कराया, लेकिन किसी ने भी समस्याओं को गंभीरता से नहीं
लिया। कॉलोनीवासियों का कहना है कि नगर परिषद शाहपुर को
कॉलोनी हस्तांतरित की जाए। यदि समस्याओं का निराकरण नहीं होता है तो
कॉलोनी के मतदाता आगामी 30 अक्टूबर को उपचुनाव मतदान का बहिष्कार करेंगे।
शाहपुर  अपवाद नहीं है बल्कि एक दर्जन स्थानो से विकास नहीं तो वोट नहीं
के स्वर अलापे जा रहे है। संसदीय क्षेत्र के मुख्यालय खंडवा में डेढ सौ
करोड लागत की खंडवा को  नर्मदा जल आपूत्रि योजना , एंव अधर मे लटकी आधी
दर्जन बायपास रोड प्रथक ट्ासंपोर्ट नगर, नया बस अड्डाा , स्वीमिंग पुल
जैसी योजनायें भी तीन दशक से लोगों का मुंह चिढा रही है।विपक्षी दल
कांग्रेस महंगाई बेकारी  भ्रष्टाचार सहित स्थानीय ज्वंलग मुछदो को केनद्र
में रखकर चुनाव प्रचार को अहमियत दिये हुये  है। कांग्रेस उम्मीदवार ठा
राजारायणसिंह ने कहा कि चुनाव परिणाम निश्चित बदलाव का उत्प्ररेक होगा।