नकली  सोने के बिस्किट बेचने वाले ठग गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफास*

6:29 pm or October 21, 2020
नकली  सोने के बिस्किट बेचने वाले ठग गिरोह का मोरवा पुलिस ने किया पर्दाफास*
एस पी वर्मा
सिंगरौली  २१ अक्टूबर ;अभी तक;  पुलिस अधीक्षक *वीरेंद्र कुमार सिंह के निर्देशन , अतिरिक पुलिस अधीक्षक अनिल सोनकर के मार्गदर्शन , एसडीओपी मोरवा राजीव पाठक के निगरानी में  मोरवा टी आई मनीष त्रिपाठी* को  नकली सोने के बिस्किट को असली बता कर ठगी करने वाले 5 सदस्यीय ठग गिरोह का पर्दाफास करने में सफलता मिली है। पुलिस ने गिरोह को बरगवां से दबोचा है। जिनके पास से 30 हजार नकदी सहित ,नकली व असली सोना के साथ मोटरसाइकिल , मोबाइल व चाकू को जप्त किया है।
                  उक्ताशय की जानकारी में *मोरवा टी आई मनीष त्रिपाठी ने बताया कि घटना दिनांक 20 octuber को फरियादी इंद्रजीत सिंह तोरमा निवासी चंदौली हाल पता साही ठेकेदार के पास* ने  रिपोर्ट दर्ज करा कर बताया कि मुख्य आरोपी *रामदास साहू* उसके पास दुधमनिया सड़क निर्माण कार्य स्थल पर आया और लालच दिया कि उसके संपर्क में कुछ लेबर है जिन्हें गोरबी खदान से सोने के 12 नग बिस्किट मिले हैं जिनमे से एक लेबर को बतौर हिस्सा 4 बिस्किट मिला है जो पर बिस्किट  डेढ़ लाख के हिसाब से बिक्री करना चाहता है।
                टी आई श्री त्रिपाठी ने आगे बताया कि आरोपी के  बहकावे व लालच मे फंसकर फरियादी 10  हजार रुपये लेकर उनके साथ गोरबी के जंगल चला गया जहाँ ठगी के बाकी सदस्यों से मिला और फरियादी को नकली सोने का बिस्किट दिखा कर अपने जाल में फंसा लिया। ठगी से अंजान फरियादी उक्त ठगों को फरियादी  10 हजार रुपये बतौर  एडवांस दे दिया और बाकी 1 लाख 30 हजार रुपये लेकर दूसरे दिन रेलवे स्टेशन सिंगरौली के पास  बुलाया। जहाँ दूसरे दिन फरियादी निर्धारित तिथि व समय पर पहुंच गया जिसे लेकर पुनः  आरोपीगण  गोरबी के जंगल मे गए और पैसा बिना सोने का बिस्किट दिए बगैर पैसा मांगने लगे जिसे देने से मना करने पर  फरियादी कुछ समझ पाता इससे पहले उसके पास रखे 20 हजार रुपये को सभी मिलकर छीन लिए और चूना लगा कर फरार हो गए थे।
*बरगवां में दबोचे गए नकली स्वर्ण ठग गिरोह*
                 *टी आई श्री त्रिपाठी* ने बताया कि नकली सोने के बिस्किट को असली बता कर ठगी करने का मामला गंभीर था सो त्वरित एक टीम गठित कर गिरोह के पतासाजी में लगा दिया। नतीजन बहुत जल्द टीम को सफलता मिली और  *मुख्य आरोपी रामदास साहू निवासी पतेरी सहित  साथ जमुना साहू निवासी पतेरी , नियामी गोंड निवासी डगा ,जमालुद्दीन निवासी कसर* को बरगवां से गिरफ्तार किया गया। आरोपियों के पास से ठगी का 30 हजार नगद, नकली सोने का बिस्किट, कुछ असली सोना, एक नग मोटरसाइकिल ,मोबाइल व एक चाकू को जप्त किया गया।
*विन्ध्यनगर में एक शिक्षक को ठगना किया स्वीकार*
                  गिरफ्तार नकली स्वर्ण ठग गिरोह ने पूछताछ में विन्ध्यनगर थाना क्षेत्र में घटना दिनांक 8 octuber को एक शिक्षक को नकली सोने को असली बता कर ठगने  का अपराध स्वीकार किया। इसके अलावा जिले के विभिन्न थाना क्षेत्र में आधा दर्जन से अधिक ठगी को बोलते तोते के तरह स्वीकार किया।
*नकली सोने का बिस्किट देने वाला सोनार भी धराया*
                 टी आई श्री त्रिपाठी के अनुसार  गिरफ्तार ठग गिरोह ने पूछताछ में वैढन कटरा से एक सोनारसे नकली बिस्किट लेना स्वीकार किया जिसके बाद नकली सोने का बिस्किट बिक्री करने वाले एक सोनार को भी गिरफ्तार कर न्यायालय भेज दिया गया है।
*इनकी रही भूमिका*
                  मोरवा टी आई मनीष त्रिपाठी के नेतृत्व में ठग गिरोह का पर्दाफास करने में  उप निरीक्षक सरनाम सिंह, साहबलाल सिंह,संतोष सिंह, अरविंद चौबे, डी एन सिंह, संजय सिंह परिहार, राहुल चौहान,रविदत्त पांडेय,रामनरेश प्रजापति,  विष्णु रावत,ज्योति पांडेय  आदि की सराहनीय भूमिका रही है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *