नगर पालिका के दो कर्मी नामांतरण के लिए रिश्वत लेते पकड़े गए

7:48 pm or November 4, 2022
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर  ४ नवंबर ;अभी तक;  लोकायुक्त उज्जैन ने मन्दसौर नगर पालिका के दो कर्मचारियों को श्री पशुपतिनाथ महादेव का आज से शुरू हुए मेले में ही नामांतरण के नाम की रिश्वत लेते पकड़े गए।
लोकायुक्त पुलिस उज्जैन के डीएसपी श्री सुनील तालान ने बताया की मन्दसौर के शुक्ला चौक निवासी एक व्यक्ति  श्री पसारी से नगर पालिका के टाइम कीपर श्री महेश हाड़ा ने नामांतरण के लिए 30 हजार रु की मांग की थी जिसमे से 20 हजार रु 3-4 दिन पहले उसने दे दिये थे।बचे हुए 10 हजार रु के लिए इनके बीच कुछ कम करो कि बात चल रही थी।फिर 8 हजार रु और देने की बात तय हुई।
श्री तालान ने बताया कि आज से श्री पशुपतिनाथ महादेव का मेला शुरू हुआ होने पर यही मेले में शेष 8 हजार रु यही मेले में काम कर है नगर पालिका के दैनिक वेतन भोगी श्री सुनील माली को देने के लिये महेश हाड़ा ने कहा और फोन पर भी चर्चा कर कहा की यह राशि इसे देदो। इस घटना पर से लोकायुक्त के द्वारा दोनो के खिलाफ कार्यवाही की गई।
इधर नगर पालिका के पार्षद श्री सुनील बंसल ने कहा कि मैने पूर्व में भी कहा है कि नगर पालिका में भ्रष्टाचार व्याप्त है। पालिका में राजस्व अधिकारी नही है। बाबू राज है। सत्ता परिवर्तन के बावजूद पालिका पुराने ढर्रे पर ही चल रही है।
पालिका में नेता प्रतिपक्ष रफत पायमी ने कहा कि नामांतरण के नाम पर रिश्वत में पकड़े गए दोनो कर्मी नगर पालिका के राजस्व विभाग के है जिन्होंने मेले में ही आकर पैसा देने की कहा। असल मे नगर पालिका में हर आदमी हर प्रकार के काम कर रहा है। दैनिक वेतन भोगी भी राजस्व के काम कर रहे है। जिनको मेले की व्यवस्था दी गई है वे अधिकारी दूसरे काम देख रहे है।