नदी बचाओ यात्रा पर पूर्व विधायक ने किया पलटवारजनता को भ्रमित कर रहे हैं पूर्व मंत्री

भिण्‍ड से डॉ. रविशर्मा

भिंड 7 सेप्त्र्मबेर ;अभी तक; :- भाजपा नेता व पूर्व विधायक रसाल सिंह ने पूर्व मंत्री डॉ. गोविंद सिंह द्वारा निकाली जा रही नदी बचाओ यात्रा पर पलटवार करते हुए कहा कि पहले वे अपने गिरेबा में झांक कर देखें कि रेत की खदानें किसकी हैं और इनका संरक्षक कौन है। जब 15 माह से कमलनाथ सरकार में आप सहकारिता मंत्री थे तब आपको कोई यात्रा निकालने की याद नहीं आई। वहीं प्रदेश के मुख्‍यमंत्री ने रेम के अवैध खदानों पर शिकजा कसना प्रारंभ कर दिया तो अब यात्रा निकालने की याद आ गई। उन्‍होंने काह कि यह डॉ. सिंह की राजनीतिक नौटंकी है। उनके द्वारा लहार क्षेत्र की जनता को भ्रमित करने की कोशिश की जा रही है। उन्‍होंने डॉ. सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व प्रभारी मंत्री के भतीजे जमील अहमद के साथ मिलकर रेत के अवैध उत्‍खनन और अन्‍य मामलों में मिलीभगत कर भ्रष्‍टाचार करने और पकड़े जाने पर पुलिस प्रशासन पर दबाव बनाकर उसे भगाने का काम किया। उन्‍हें पहले लहार क्षेत्र की जनता के सामने इसका इसका जवाब देना चाहिए।

रेत से धन उगाही में लगे रहे रमेश दुबे: भदौरिया:- जिले में हो रहे अवैध उत्‍खनन को लेकर जहां पूर्व मंत्री डॉ. गोविंद सिंह द्वारा पदयात्रा की जा रही है वहीं भाजपा नेता सिंधिया समर्थक रमेश दुबे ने इस पदयात्रा को नौटंकी बताया है। इसी कड़ी में युवक कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री राहुल भदौरिया ने भाजपा नेता दुबे के बयान पर पलटवार करते ह‍ुए कहा कि वह पहले अपने गिरेबां में झांकें। ये वही हैं जो सिधिया की दलाली में लगे रहते हैं। 2003 में फूलसिंह बरैया की पार्टी से भिण्‍ड विधानसभा चुनाव लड़े थे। उन्‍हें मात्र 800 मत मिल पाए थे। वहीं 2018 में कांग्रेस ने अपना प्रत्‍याशी बनाया तो प्रदेश में सबसे कम वोट मिले और जमानत जब्‍त हुई। उन्‍होंने का कि प्रदेश में जब कांग्रेस की सरकार थी तब दुबे स्‍वयं अवैध उत्‍खनन से धन उगाही में शामिल थे।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *