नपाध्यक्ष श्री कोटवानी ने लाॅ कालेज स्टाफ की बैठक ली

महावीर अग्रवाल
मंदसौर  ३ सितम्बर ;अभी तक;  नगरपालिका अध्यक्ष व श्री जवाहरलाल नेहरू विधि महाविद्यालय ट्रस्ट के पदेन अध्यक्ष श्री राम कोटवानी ने बुधवार को विधि महाविद्यालय पहुंचकर महाविद्यालय स्टाफ के सदस्यों की बैठक ली । बैठक में महाविद्यालय
प्राचार्य डाॅ. एनके जैन सहित महाविद्यालय के सभी स्टाफगण उपस्थित थें ।
             लगभग 1 घण्टे से अधिक समय तक चली इस बैठक में नपाध्यक्ष व लाॅ कालेज के पदेन अध्यक्ष श्री कोटवानी ने महाविद्यालय स्टाफ के कामकाज की समीक्षा की नपाध्यक्ष श्री कोटवानी ने महाविद्यालय स्टाफ को स्पष्ट शब्दों में कहा कि वे महाविद्यालय के कार्यालयीन समय में पूरे समय उपस्थित रहें। वर्तमान समय में मध्यप्रदेश शासन के उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार प्रवेश
प्रक्रिया चल रही है इसीलिए महाविद्यालय स्टाफ का पूरे समय उपस्थित रहना अनिवार्य है। यदि कोई स्टाफ सदस्य लापरवाही करता है और समय पर उपस्थित नहीं होता है तो उसकी जानकारी प्राचार्य सीधे रूप से मुझे देवे । आपने कहा कि प्रवेश के लिए महाविद्यालय में विद्यार्थी और उनके अभिभावकगण महाविद्यालय आएं तो उन्हे किसी भी प्रकार की असुविधा न हो इसका पूरा ध्यान रखें और प्रवेश के संबंध में विद्यार्थीयो के द्वारा जो जानकारी मांगी जाती है उन्हें उसकी पूरी जानकारी देवे। आपने कहा कि महाविद्यालय में प्रवेश के बाद जो विद्यार्थी लायब्रेरी से पुस्तकें इशु कराना चाहते है उन्हें उनकी मांग के अनुसार पुस्तकें उपलब्ध कराई जावें। आपने यह भी
कहा कि महाविद्यालय में एलएलबी पंचवर्षीय पाठयक्रम व तीन वर्षीय पाठयक्रम में जो सीटें रिक्त है वे सीटें पूरी भर जाएं । इसके लिए महाविद्यालय स्टाफ प्रवेश संबंधी जानकारी व महाविद्यालय में प्राप्त सुविधाओं के विषय में विद्यार्थीयों व उनके अभिभावकों को अवगत कराने हेंतु प्रतिबद्ध रहें और इसके लिए आवश्यक काम करें।
               यह उल्लेखनीय है कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आयोजित ध्वजारोहण के मौकेपर महाविद्यालय स्टाफ को सम्बोधित करते हुए नपाध्यक्ष व ला कालेज के पदेन अध्यक्ष श्री कोटवानी ने महाविद्यालय के अधिकांश स्टाफ सदस्यों के वेतन में लगभग 2 हजार रूपए व 1 स्टाफ सदस्य के वेतन में 3 हजार 500 रू की वृद्धि की थी । नगरपालिका अध्यक्ष श्री कोटवानी की मंशा है किमहाविद्यालय स्टाफ को उनकी योग्यता के अनुसार वेतन मिलें और उन्हे सुविधामिलें लेकिन महाविद्यालय स्टाफ के सदस्य पूरे परिश्रम के साथ कार्य भी करें

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *