नवीन शिक्षा नीति के अनुरूप विषय परिवर्तन की प्रक्रिया प्रारंभ

मयंक शर्मा
खंडवा ८ नवंबर ;अभी तक; मध्य प्रदेश उच्च शिक्षा विभाग द्वारा नवीन शिक्षा नीति 2020 का
क्रियान्वयन किया गया है। इस नवीन शिक्षा नीति में भारतीय परिदृश्य में
विद्यार्थियों के संपूर्ण विकास एवं व्यावसायिक कौशल उन्नयन का प्रावधान
है। नवीन शिक्षा नीति में विद्यार्थियों को विभिन्न संकायों के विभिन्न
विषय चुनने की स्वतंत्रता प्रदान की गई है। विद्यार्थियों को अपने संकाय
के अतिरिक्त अन्य विषयों को चुनने का पुनः अवसर उच्च शिक्षा विभाग द्वारा
दिया जा रहा है।
                 श्री नीलकंठेश्वर शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.
मुकेश जैन ने बताया कि स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश प्राप्त विद्यार्थी
8 नवंबर 2021 से 20 नवंबर 2021 तक महाविद्यालय में उपस्थित होकर अपने
विषयों का चयन कर सकते हैं। प्रत्येक विद्यार्थी के लिए अपने संकाय में
मेजर एवं माइनर विषयों के अतिरिक्त वैकल्पिक विषय के रूप में महाविद्यालय
में 25 अन्य विषयों के विकल्प उपलब्ध रहेंगे। प्रत्येक संकाय में वोकेशनल
कोर्स के लिए भी पर्याप्त विकल्प उपलब्ध रहेंगे।
                   प्राचार्य डॉ मुकेश जैन ने बताया कि विषय चयन करने की सुविधा ऑनलाइन भी
उपलब्ध है। एमपी ऑनलाइन के प्रवेश पोर्टल epravesh.mponline.gov.in के
माध्यम से विद्यार्थी विषय परिवर्तन संबंधी कार्यवाही कर सकते हैं। डॉ.
मुकेश जैन ने आह्वान किया कि समस्त नियमित विद्यार्थी महाविद्यालय में
उपस्थित होकर अपनी चॉइस को लॉक कराएँ तो बेहतर होगा क्योंकि जब
विद्यार्थी महाविद्यालय में उपस्थित होंगे तो उन्हें अपने शिक्षकों का
यथोचित मार्गदर्शन प्राप्त होगा, इससे उन्हें विषय चयन करने में भी
सुविधा होगी तथा त्रुटि की संभावना भी नहीं रहेगी। प्राचार्य डॉ. मुकेश
जैन ने कहा कि 20 नवंबर के पश्चात फिर विषय परिवर्तन नहीं हो सकेगा। अतः
समस्त विद्यार्थियों को  महाविद्यालय में उपलब्ध निर्धारित आवेदन को भरकर
तय समयसीमा में अपने विषय का चयन करना है। इस आवेदन पत्र में
विद्यार्थियों को वैक्सीनेशन की जानकारी भी देनी होगी। इस प्रक्रिया को
सहजता एवं सरलता के साथ संपन्न कराने हेतु प्राचार्य महोदय ने  समस्त
स्टाफ को निर्देशित किया है।