नशे के विरूद्ध संकल्प के साथ अभियान मुस्लिम महासभा मंदसौर ने पेश की प्रेरक प्रशंसनीय मिसाल 

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर २१ अक्टूबर ;अभी तक; हाल ही में मंदसौर मुस्लिम महासभा ने समाज विशेषकर युवा वर्ग को नशे की लत से बचाकर उन्हें परिवार-समाज-राष्ट्रहित में अपना शारीरिक-बौद्धिक-मानसिक सर्वांगीण विकास उन्नति के लिये नशे से दूर रखने के लिये विशेष अभियान चलाने का जो संकल्प लिया है इसके संबंध में पतंजली योग संगठन जिला प्रभारी बंशीलाल टांक ने इसे एक प्रशंसनीय प्रेरक मिसाल पेश करना बताया है।
                 महासभा में बताया गया इस्लाम में शराब को हराम बताया है। टांक ने कहा शराब तथा अन्य प्रकार के सभी नशे जिनसे शारीरिक क्षीणता के साथ ही सबसे बड़ी हानि मानसिक तौर पर बौद्धिक चिन्तन शक्ति आदि नष्ट हो जाती है, जिससे वह स्वयं के साथ ही परिवार-समाज का हित करने में एक दम अक्षम्य हो जाता है। इसलिये नशा चाहे वह शराब, स्मैक या अन्य किसी नशीली वस्तु का हो वह केवल इस्लाम मजहब में ही नहीं अन्य सभी धर्मों में शराब आदि नशे को गलत बताया है, इसलिये जो नशे के आदि है उन्हें नशे को हराम मानकर इससे दूर रहने का संकल्प लेना चाहिए। वैसे भी अभी कोरोना काल है जिसमें नशे से इम्यूनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) नष्ट हो जाती है, इसलिये उसे बचाने-बढ़ाने के लिये हर हालत में नशे से दूर रहने में ही फायदा है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *