नाबालिग के साथ बलात्कार करने वाले आरोपी को न्यायालय ने सुनाई सजा

6:17 pm or November 21, 2022
विधिक संवाददाता
बाँध २१ नवंबर ;अभी तक; न्यायालय  -षष्टम अपर सत्र न्यायाधीश/विशेष न्यायाधीश,(पाक्सो एक्ट) जिला भिण्ड म0प्र0 ने नाबालिग के साथ बलात्कार करने वाले आरोपी को सजा सुनाई है।
प्रकरण का संचालन श्री अरविंद कुमार श्रीवास्तव जिला अभियोजन अधिकारी भिण्ड के निर्देशन में श्रीमती हेमलता आर्य विशेष लोक अभियोजक द्वारा किया गया।
                                 मीडिया सेल प्रभारी श्री के0पी0 यादव द्वारा बताया गया कि दिनांक 30.09.2019 को रात्रि के लगभग 01.00 बजे अभियोक्त्री  अपने घर में सो रही थी तथा अभियोक्त्री के माता-पिता घर के बाहर सो रहे थे। उसके कमरे का दरवाजा रोज की तरह खुला था और लाइट जली थी तभी उनके गांव का अभियुक्त छोटू उर्फ धीरज उनके घर के जीने से अभियोक्त्री के कमरे में घुस आया और कमरे में पड़े दुपट्टे से अभियोक्त्री का मुंह बांधकर अभियोक्त्री के साथ बलात्संग किया। अभियुक्त जाते समय धमकी देकर गया कि यदि किसी को कुछ बताया तो जान से खत्म कर दूंगा। अभियोक्त्री के पिता की 02.00 बजे के लगभग अचानक आंख खुल गई और उन्होने देखा कि उनके गांव का अभियुक्त छोटू उर्फ धीरज उनकी पुत्री के कमरे से निकल रहा था। उन्होंने अभियुक्त को पकड़ने की कोशिश की तो अभियुक्त दौड़कर छत सेकूदकर भाग गया। अभियोक्त्री के माता-पिता अभियोक्त्री के पास आये तो उन्होंने देखा कि अभियोक्त्री अपने कमरे में रो रही थी और अभियोक्त्री ने उन्हें बताया कि अभियुक्त छोटू उर्फ धीरज उसके कमरे में आया और उसका मुंह बंद करके उसके साथ गलत काम किया। बदनामी के कारण उस समय पुलिस को कोई सूचना नहीं दी। सुबह के लगभग 07.00 बजे अभियोक्त्री ने शर्म के कारण फांसी लगा ली, जिस पर उन्होंने अभियोक्त्री को फांसी के फंदे से उतारकर बचाया। फांसी लगने से अभियोक्त्री बेहोश हो गयी थी और कुछ बोल नहीं पा रही थी। अभियोक्त्री को जिला अस्पताल भिण्ड लेकर आये, जहां से उसे ग्वालियर रैफर किया गया। अभियोक्त्री के पिता ने उक्त घटना की सूचना विवेचक सुमन धाकड़ को जिला अस्पताल भिण्ड में प्रदत्त की और उक्त सूचना पर देहाती नालिसी लेखबद्ध की गई। उक्त देहाती नालिसी के आधार पर थाना ऊमरी जिला भिण्ड केअप0क्र0-283/2019 अंतर्गत धारा-376, 450, 506 भाग-2 भा0द0सं0 एवं धारा-3/4 पाक्सो अधिनियम के अधीन अभियुक्त छोटू उर्फ धीरज के विरूद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट प्र0पी0-19 पंजीबद्ध की गई।
                                षष्टम अपर सत्र न्यायाधीश/विशेष न्यायाधीश,(पाक्सो एक्ट) जिला भिण्ड म0प्र0 द्वारा विचारण पश्चात अभियुक्त छोटू उर्फ धीरज पुत्र परशुराम जाटव, आयु 20 वर्ष निवासी ग्राम पीलाडंडा मीसा आरक्षी केन्द्रय ऊमरी, जिला भिण्डए (म0प्र0) को धारा 376(1) भा.द.सं. के अं‍तर्गत 10 वर्ष का कठोर कारावास एवं 20,000रू धारा 450 के अधीन 5 वर्ष का कठोर कारावास एवं 5000रू के अर्थदंड से , धारा 306/511 भा0द0सं0 के अ‍तंर्गत 5वर्ष का कठोर कारावास एवं 5,000रू अर्थदंड, धारा 3/4 पॉक्सोस एक्टद के अंतर्गत 10 वर्ष का कठोर कारावास एवं 20,000रू के अर्थदंड से दण्डित किया गया।