नाबालिग से घर में घुसकर छेडछाड के आरोपी की जमानत निरस्‍त

महावीर अग्रवाल

मंदसौर २५ सितम्बर ;अभी तक;  द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश महोदय श्रीमती निशा गुप्‍ता सा0 मदंसौर के द्वारा आरोपी दशरथ पिता भगवानलाल मेघवाल उम्र 20 वर्ष निवासी ग्राम बर्डिया जिला मंदसौर की जमानत याचिका निरस्त की गई।

मीडिया सेल प्रभारी नितेश कृष्णन ने बताया की घटना इस प्रकार है कि आरोपी दशरथ फरियादिया के पडोस मंे रहता है जो आयेदिन बुरी नियत से उसका पीछा करता है और गंदी नियत से घुरता रहता है। करीब 4 माह पहले फरियादिया ने दशरथ की हरकतों के बारे में अपने परिवारवालों को बताया तो उस समय उसकी मम्‍मी ने दशरथ के घर जाकर उसके व उसके परिवारवालों को समझाया था परन्‍तु उसके बाद भी जब भी फरियादिया कुंए पर पानी लेने जाती तो दशरथ बार-बार उसे बुरी नियत से घुरता व पीछा करता।दिनांक 17.09.2020 को रात्रि करीब 02:30 बजे फरियादिया को उसके घर का दरवाजा खटखटाने की आवाज सुनाई दी। जैसे ही उसने दरवाजा खोला तो आरोपी दशरथ बाहर खडा हुअा था। जिसने बुरी नियत से उसका हाथ पकड कर दरवाजे से बाहर खींच लिया व उसका मुंह दबाने की कोशीश करने लगा। जिससे फरियादिया डर गई व घबराकर जोर से चिल्‍लाई तो आवाज सुनकर उसके परिवारवाले आ गये जिससे आरोपी दशरथ वहां से डर कर भाग गया।जिस पर से फरियादी की रिपोर्ट पर से थाना सुवासरा पर अपराध क्रमांक 236/20 अंतर्गत धारा 452,354,354(क),354(घ) भादिव एवं पाक्‍सो एक्‍ट की धारा 7/8 व 11/12 का पंजीबद्ध कर विवेचना में लेकर आरोपी को न्‍यायालय में पेश किया था।उक्‍त मामले में आरोपी दशरथ पिता भगवानलाल द्वारा जमानत आवेदन लगाया गया था। जिसकी सुनवाई आज नियत थी।

आज दिंनाक को आरोपी दशरथ पिता भगवानलाल मेघवाल उम्र 20 वर्ष निवासी ग्राम बर्डिया जिला मंदसौर के द्वारा माननीय द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश महोदय श्रीमती निशा गुप्‍ता सा0 मंदसौर केे समक्ष जमानत याचिका प्रस्तुत की गई जिस पर से लोक अभियोजक नितेश कृष्‍णन के द्वारा जमानत का घोर विरोध करते हुए आपत्ति दर्ज कराई जिस पर से माननीय न्यायालय द्वारा आरोपी दशरथ पिता भगवानलाल मेघवाल उम्र 20 वर्ष निवासी ग्राम बर्डिया जिला मंदसौर की जमानत याचिका निरस्त की गई।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *