नारी राष्ट्र को पुनः विश्व गुरु बनाने का सामर्थ्य रखती है- डॉ. सुलोचना शर्मा

5:15 pm or August 2, 2022
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर २ अगस्त ;अभी तक;   स्वराज अमृत महोत्सव समिति के द्वारा मातृशक्ति टोली के माध्यम से जिला स्तर पर एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम आयोजित किया गया।
कार्यक्रम में मुख्य वक्ता डॉ. सुलोचना शर्मा, विशेष अतिथि अनीता दीदी व मुख्य अतिथि ज्योती गुप्ता थी। इस दौरान मुख्य वक्ता डॉ. शर्मा ने कहा कि नारी संस्कार व संस्कृति के साथ राष्ट्र को पुनः विश्व गुरु बनाने की सामर्थ्य रखती है।
कार्यक्रम की प्रस्तावना डॉ. अलका अग्रवाल ने रखी। कार्यक्रम में मंदसौर के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिवार से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. केशवप्रकाश विद्यार्थी की पुत्री शशि विद्यार्थी, स्व. सीताराम अग्रवाल मथुरा की पुत्रवधु शैलबाला अग्रवाल एवं स्व. घीसालाल मनाना की पुत्री आशा शर्मा का सम्मान किया गया।
कार्यक्रम के अंतर्गत दो साल से अधिक उम्र के प्रत्येक व्यक्ति के लिए गायन नृत्य एवं फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता रखी गई। यह प्रतियोगिता दो समूह रखी गई 14 वर्ष से कम उम्र के बालक बालिकाओं को जूनियर समूह में तथा 14 वर्ष से अधिक उम्र के प्रतिभागी सीनियर समूह में रखी। कार्यक्रम का उद्देश्य प्रत्येक बच्चे में देशभक्ति की भावना जागृत करना था। इस कार्यक्रम के तहत 68 बच्चों ने सहभागिता की।
ये रहे प्रतियोगिता के विजेता- आयोजित प्रतियोगिता में डॉ. सुनीता गोधा, याशिका दवे तथा आशीष मराठा ने निर्णायक की भूमिका का निर्वहन किया। गायन में जूनियर समूह में प्रथम साक्षी सारंग, द्वितीय हार्दिक दुबे तथा तृतीय स्थान विक्रम ने प्राप्त किया। सीनियर समूह में प्रथम दीपिका कहार द्वितीय देवेंद्र झाला तथा प्रणव जोशी तृतीय स्थान पर रहे।
फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान अर्चना बैरागी, द्वितीय स्थान रिया नागर एवं इरा तिवारी तथा तृतीय स्थान आरती  गुप्ता ने प्राप्त किया। नृत्य प्रतियोगिता में प्रथम स्थान जूनियर वर्ग में खनक गर्ग, द्वितीय स्थान द्वितीय मावर तथा तृतीय स्थान जीविका चौहान ने प्राप्त किया। सीनियर समूह में प्रथम स्थान प्रियांशी गहलोत द्वितीय स्थान निधी पौराणिक तथा तृतीय स्थान सर्मिष्ठा परमार ने प्राप्त किया।
कार्यक्रम का संचालन निवेदिता नाहर व शकुन्तला भट्ट ने किया। आभार किरण मावर ने माना। कार्यक्रम में मातृशक्ति टोली व राष्ट्र सेविका समिति की समस्त बहनें उपस्थित थीं।