निजी अस्पताल में कोरोना मरीज का अनाधिकृत इलाज, प्रशासन ने बनवाया जीवांश हॉस्पिटल पर पुलिस प्रकरण

-अरुण त्रिपाठी
 रतलाम,3 अप्रैल ;अभी तक;  प्रशासन ने शुक्रवार देर रात रतलाम के अस्सी फीट रोड पर अनाधिकृत रूप से कोरोना मरीज का उपचार करने पर जीवांश हॉस्पिटल पर छापामार कार्रवाई की। इस कार्रवाई के बाद सीएमएचओ डॉ प्रभाकर ननावरे की रिपोर्ट पर औद्योगिक क्षेत्र पुलिस ने जीवांश हॉस्पिटल संचालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।
औद्योगिक क्षेत्र थाना प्रभारी नीरज सारवान ने बताया कि पुलिस ने हॉस्पिटल संचालक के खिलाफ भादवि की धारा 188 एवं महामारी अधिनियम की धारा 3 एवं 4 के तहत कार्रवाई की जाएगी। शासन द्वारा मेडिकल कॉलेज के अस्पताल समेत कुछ निजी अस्पतालों को कोरोना मरीजों को भर्ती करने के लिए अधिकृत किया है। जीवांश हॉस्पिटल प्रशासन की सूची में कोरोना मरीजों को भर्ती करने के लिए अधिकृत नहीं है। इसके बावजूद यहां कोरोना मरीज को भर्ती कर उसका इलाज किया जा रहा था।
       प्रशासन की टीम डिप्टी कलेक्टर शिराली जैन के नैतृत्व में जीवांश हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमित मरीज का उपचार किए जाने की शिकायत पर पहंुची। डिप्टी कलेक्टर ने हॉस्पिटल के रिकॉर्ड और मरीज के दस्तावेजों की जांच की। उन्होंने पाया कि कोरोना संक्रमित मरीज का उपचार सामान्य मरीजों के साथ किया जा रहा था। इसके बाद प्रशासन की टीम ने हॉस्पिटल के दस्तावेज जब्त कर संक्रमित मरीज को मेडिकल कॉलेज के अस्पताल अथवा शासन द्वारा निर्धारित निजी कोविड अस्पताल में शिफ्ट करने के निर्देश दिए। डिप्टी कलेक्टर द्वारा जांच रिपोर्ट कलेक्टर गोपालचंद्र डाड को सौंपने के बाद रात्रि में पुलिस प्रकरण दर्ज कराया गया।
               गौरतलब है कि जिले में कोरोना संक्रमण लगातार बढ रहा हैं। सक्रिय संक्रमण के वर्तमान में 600 से अधिक मरीज है। पिछले चार-पांच दिनों में रोज 80 के आसपास मरीज मिले है। इसके बाद प्रशासन ने एक से अधिक मरीज मिलने पर काटजू नगर और दीनदयाल नगर की गली को कंटेनमेंट क्षेत्र बना दिया है। एसडीएम अभिषेक गेहलोत ने बताया कि कोरोना की चेन तोडने के लिए निरंतर कार्रवाई जारी है। पुलिस ने मास्क नहीं पहनने वाले 100 से अधिक लोगों को अस्थायी जेल में भेजकर चालानी कार्रवाई की है। शहर में शनिवार और रविवार को दो दिन का लॉक डाउन भी इसी उददेश्य से लगाया गया हैं

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *