निमाड़ क्षेत्र का सबसे बड़ा तिरंगा खरगोन में होगा स्थापित

8:16 pm or July 25, 2022
आशुतोष पुरोहित
खरगौन निमाड़ क्षेत्र का सबसे ऊँचा तिरंगा खरगोन में स्थापित होगा। इसके लिए तैयारियां कलेक्टर श्री कुमार पुरुषोत्तम के निर्देशन में प्रारम्भ हो गई है। समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक में कलेक्टर श्री कुमार ने एसडीएम मिलिंद ढोके और नपा सीएमओ श्रीमती प्रियंका पटेल किला परिसर स्थित लगने वाले 101 फिट के तिरंगे वाले स्थान को एक बगीचे के रूप में विकसित करने के निर्देश भी दिए हैं। निमाड़ क्षेत्र के सबसे बड़े तिरंगे के तौर पर स्थापित करने के लिए कलेक्टर श्री कुमार ने पीडब्ल्यूडी और पीआईयू विभाग को भी निर्देशित किया है। श्री कुमार ने कहा कि किला परिसर पहले से ही खरगोन शहर की सबसे अधिक ऊंचाई पर है। इसलिए यह सुनिश्चित करें कि इतनी ऊंचाई पर तिरंगा लगाना पर हवा का दबाव या किसी तरह से समस्या न हो। अपने मार्गदर्शन में ही झंडा संहिता का पालन करते हुए तिरंगा स्थापित करने के निर्देश दिए। टीएल बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री दिव्यांक सिंह व एसडीएम उपस्थित रहे। जबकि जनपद स्तरीय अमला वीसी के माध्यम से जुड़ा।
हमें गर्व होगा 101 फिट ऊंचे तिरंगे पर
टीएल बैठक में एसडीएम ढोके ने जानकारी देते हुए बताया कि स्थान उपयुक्त है लगाने की तैयारियां प्रारम्भ कर दी गई है। किला परिसर स्थित इस क्षेत्र में लगने वाले तिरंगे के नीचे और ऊपर की ओर प्रकाशमान किया जाएगा। ताकि झंडा संहिता का भी पालन किया जा सकें। निमाड़ में ऐतिहासिक प्राचीर पर तिरंगा लहराने के बाद खरगोन को गौरवान्वित करेगा। जिले में 11 अगस्त से 17 अगस्त तक हर घर तिरंगा अभियान के तहत 4 लाख घरों में तिरंगे लगाए जाना है। इस संबंध में सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि तिरंगों की मांग के अलावा लोग स्वप्रेरणा से घरों में तिरंगा लगाए जनांदोलन बने ऐसा प्रयास सभी को करना है।
एसडीएम बीएमओ और सीएमओ मिलकर बनायंेगे वैक्सीनेशन का प्लान
टीएल बैठक में कलेक्टर श्री कुमार ने प्रिकॉशन डोज की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान समस्त एसडीएम, बीएमओ और सीएमओ से कहा कि दुकानांे, हाट बाजारों, कोचिंग, कॉलेज मंडी, वार्डवार सभी जगह टीकाकरण होना है। आप लोग प्लान तैयार करें। शहर से गांव की ओर बढ़ना है। इन दिनों खरगोन में संक्रमण दर लगातार बढ़ रही है। यह दर 10 प्रतिशत हो गई है। हर एसडीएम को 20-20 हजार टीके लगाने का लक्ष्य दिया है। एसडीएम द्वारा प्रस्तुत किये जाने वाले प्लान के मुताबिक ही स्वास्थ्य विभाग कैम्प आयोजित करेगा।
रैलियां निकाली जाएगी, होगी प्रतियोगिताएं
बैठक के दौरान महिला बाल विकास, शिक्षा विभाग और अन्य विभागों को निर्देश दिए गए कि रैलियां भी निकाले और परिवारों को प्रेरित करें कि अभियान में सभी सदस्य राष्ट्रीय पर्व की भांति एकत्रित होकर तिरंगे लगाए।
अतिवृष्टि से बचाने की पूरी तैयारी रखे
कलेक्टर श्री कुमार ने कहा ने राजस्व अधिकारियों से कहा कि अभी जबलपुर क्षेत्र में बारिश हो रही है। वहा बारिश होने पर यह स्थिति है यहां या खंडवा या अन्य स्थानों पर बारिश होने के बाद स्थिति चिंताजनक हो सकती है। जिले में अतिवृष्टि होने से पूर्व सभी तैयारियां सुनिश्चित करें। कलेक्टर श्री कुमार ने अनुभागों में अतिवृष्टि से बचने के उपायों के बारे में जानकारी ली। एसडीएम बड़वाह श्री कनेश ने बताया कि 164 मीटर पानी होने पर पुल डूब जाता है। ऐसी स्थिति में अनुभाग के कुल 19 गांवो में पानी घुसने लगता है। कसरावद मण्डलेश्वर और भीकनगांव एसडीएम ने भी बाढ़ से बचाव के सम्बंध में जानकारी प्रस्तुत की। सभी एसडीएम से कहा कि नाव गोताखोर, राशन और जिन स्थानों पर ग्रामीणों को रखा जाना है। वह स्थान सुनिश्चित कर लें। अगर प्रभावित नागरिकांे की संख्या बढ़ती है तो स्थान ऐसे हो जहां अधिक में प्रभावितों को रखा जा सकता है।