न्यायिक इतिहास, महत्वपूर्ण कानून तथा विधिक सहायता प्रणाली के कार्यो पर लगाई गई प्रदर्शनी

दीपक कांकर

रायसेन, 11 नवम्बर ;अभी तक;
राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली द्वारा ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव‘‘ के तहत 08 नवम्बर से 14 नवम्बर 2021 तक लीगल सर्विस वीक के रूप में मनाया जा रहा है। जिसके अंतर्गत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायसेन द्वारा एडीआर सेंटर में भारत की न्याय प्रणाली, न्यायिक इतिहास, महत्वपूर्ण कानून तथा विधिक सहायता प्रणाली के कार्यो पर 11 नवम्बर से 13 नवम्बर तक प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। जिसका उद्घाटन प्रधान जिला न्यायाधीश तथा अध्यक्ष श्री ओंकार नाथ द्वारा रिबन काट कर किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रधान जिला न्यायाधीश श्री नाथ और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव श्रीमती संगीता यादव द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया।

प्रदर्शनी में ज्यूडिशियल एवं लॉ बुक कार्नर भी बनाया गया, जिसमें भारतीय न्यायपालिका एवं मप्र न्यायपालिका की अतीत से वर्तमान तक का इतिहास दर्शाती पुस्तकें (हिंदी व अंग्रेजी वर्जन) रखी गई है। साथ ही इंटरनेट के माध्यम से न्यायप्रणाली व विधिक सेवा प्रणाली की जानकारी प्राप्त किए जाने की व्यवस्था की गई है। प्रदर्शनी में लीगल एंड सिस्टम, भारतीय न्यायिक व्यवस्था, हिस्ट्री ऑफ ज्यूडिशियल एडमिनिस्ट्रेशन आफ्टर इंडेपेंडेंस के साथ अन्य महत्वपूर्ण एक्ट पॉक्सो एक्ट 2012, घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम, 2005 एवं नियम, बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम, 2006 आदि एवं नालसा और राज्य प्राधिकरण के द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं जैसे शिक्षा का अधिकार, निःशक्तजन एवं अधिकार, विधिक सलाह एवं सलाह, लीगल एड क्लीनिक योजना, मध्यस्थता योजना, लोक अदालत, कानूनी सेवायें के स्टेण्डी लगाए गए हैं