न्यूनतम तापमान तीन डिग्री लुढ़का, 7.6 डिग्री तापमान, चल रही सर्द हवाए, फिर ठिठुरा जिला, गुनगुनी धूप का आंनद ले रहे स्कूली बच्चे

5:51 pm or January 4, 2022

नारायणगंज से प्रहलाद कछवाहा

मंडला ४ जनवरी ;अभी तक;  जिले में रोजाना मौसम अपने तेवर बदल रहा है।  तापमान में अचानक बढ़ोत्तरी हो जाती है और पारा एक दम से तीन चार डिग्री नीचे उतर भी जाता है। जिसके कारण जिले का मौसम बिल्कुल बदला हुआ नजर आ रहा है। एक बार फिर हवाओं का रुख बदला जिसके कारण तापमान में गिरावट आई और फिर ठिठुरन बढ़ गई है।  दिनभर शीत लहर चलने लगी है। सुबह और शाम के वक्त मौसम में ठिठुरन बढ़ गई है। दोपहर को ठंडी हवाओं ने लोगों को गरम कपड़े पहनने मजबूर कर दिया। अब रोजाना तापमान में कमी आ रही है। हवाओं के बदले रुख ने ठंडक बढ़ा दी है।  पश्चिमी विक्षोभ का असर हटते ही हवांए भी बदल गई। अब उत्तर से हवाएं चलने लगी है। उत्तर से आने वाली हवाएं शुष्क व ठंडी होती है। जिससे तापमान में गिरावट का दौर शुरु हो गया है। ठंडी हवाओं से सर्दी बढऩे लगी है।

                 बता दे कि  पिछले एक सप्ताह से अधिकतम व न्यूनतम के तापमान में अप डाउन का खेल चल रहा है। जिसके कारण कभी तापमान उछाल मार देता है तो अचानक तापमान नीचे आ रहा है। रविवार को अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 10.5 डिग्री था, जिसमें न्यूनतम तापमान सीधे तीन डिग्री डाउन होते हुए 7.6 डिग्री पर पहुंच गया। तापमान में गिरावट के साथ सर्दी के तेवर भी बदले हुए नजर आने लगे हैं। शहर में सोमवार को दिन भर मौसम साफ रहा। मौसम का रुख लगातार बदल रहा है और ठंड अपना असर दिखाने लगी है। जिले में न्यूनतम तापमान 7.6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। वहीं अधिकतम तापमान 26.8 डिग्री सेल्सियस है। अधिकतम तापमान में भी 1.8 डिग्री की बढ़ोत्तरी हुई है।

गुनगुनी धूप का आनंद ले रहे बच्चे :

जानकारी अनुसार  जिले में एक पखवाड़े से ठंड अपना असर दिखा रही है। कभी तापमान उछाल आ रहा है तो कभी तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है। पिछले एक पखवाड़े से मौसम में ठंडक है, जिसके कारण दिन में भी लोग गरम कपड़ों में नजर आ रहे है। शीत लहर चलने से  मौसम में ठिठुरन है। सोमवार को न्यूनतम तापमान 7.6 डिग्री दर्ज किया गया है। तापमान में आ रही गिरावट के मद्देनजर जिले के कई ग्रामीण क्षेत्रों में लगने वाली प्राथमिक व माध्यमिक शालाओं के बच्चें गुनगुन धूप में पढ़ाई करते हुए नजर आए। ठिठुरन भरी ठंड के कारण कक्षाओं में बच्चे बैठ नहीं पाए। तापमान में कमी होने के कारण ठंड ने बच्चों को कक्षा से बाहर आने मजबूर कर दिया। जिसके बाद बच्चें, शिक्षक स्कूल के बाहार खुले मैदान में आकर गुनगुनी धूप में पढ़ाई का आनंद लिया।

मौसम में हो रहा बदलाव :

अब ठिठुरन अब बढऩे लगी है और ठंडी हवाओं के चलते तापमान में भी गिरावट आई है। यही कारण है कि जिले के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस के आसपास और कुछ क्षेत्रों में इससे नीचे जा पहुंचा है। ठंडी हवाओं के चलते मौसम में तेजी से बदलाव हो रहा है। सोमवार को जिले का मौसम साफ रहा और धूप खिली रही। लेकिन रातों की ठिठुरन और बढ़ गई है।  ग्रामीण क्षेत्रों में शहरी क्षेत्र की अपेक्षा ज्यादा ठंड है। यहां रबी फसल में हो रही सिंचाई और वनांचल क्षेत्र में ठंड बढ़ रही है।

शीत लहर का असर :

सुबह व शाम के समय मौसम में तेज ठंड और धुंध छाने लगा है। सुबह के समय स्कूली बच्चे गर्म लबादों में लिपटे नजर आते है और कुछ लोगों ने जगह-जगह अलाव जलाकर सर्दी से बचने के जतन करते नजर आते है। सर्दी के कारण लोगों की दिनचर्या में भी बदलाव आ गया है। लोग देर सुबह तक बिस्तरों में दुबके रहते हैं और अपने रोजमर्रा के कार्य भी धूप खिलने के बाद ही कर रहे हैं। दोपहर को धूप खिलने के बाद स्थानीय लोगों एवं पर्यटकों ने सर्दी से राहत महसूस की।  मैदानी क्षेत्रों में भी शीतलहर का असर देखा गया।

27 दिसंबर 2021 से 03 जनवरी 2022 तक का तापमान
दिनांक अधिकतम न्यूनतम
27 दिसंबर 27.6 10.2
28 दिसंबर 25.5 11.8
29 दिसंबर 20.6 14.4
30 दिसंबर 19.8 9.5
31 दिसंबर 23.0 8.1
01 जनवरी 23.6 9.0
02 जनवरी 25.0 10.5
03 जनवरी 26.8 7.6