पंचायत के चौमुखी विकास के लिए युवा सरपंच ने उठाए कड़े कदम,व्यापारियों ने विरोध जताया

10:32 pm or November 11, 2022
(दीपक शर्मा)
पन्ना ११ नवंबर ;अभी तक;  पंचायती राज व्यवस्था में पंचायत के चौमुखी विकास के लिए ग्राम पंचायत सरकार का चुनाव किया जाता है जिसमें पंचायत क्षेत्र की जनता अपने मुखिया कासीधे चुनाव करती है। पंचायती राज व्यवस्था के इस अवधारणा को जिले के शाहनगर पंचायत में साकार होते देखा जा रहा है जहां चुनाव के बाद नवागत सरपंच मनोज जैन द्वारा ग्राम के विकास के ताने-बाने बुने जा रहे हैं। ग्राम प्रधान द्वारा पंचायत के चौमुखी विकास की लिए पंचायत की सभी 51 दुकानों के किराए में भारी विरोध के बावजूद बढ़ोतरी कर दी गई है। जिससे होने वाली आय से वह पंचायत की साफ-सफाई, शुद्ध पेयजल व्यवस्था, नाली निर्माण एवं प्रकाश की समुचित व्यवस्था ओर ग्राम का सौन्दर्यीय करन करने जा रही है।
                          वहीं पंचायत के निर्णय अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्वच्छ भारत मिशन की परिकल्पना को साकार करने के उद्देश्य से शौचालयों की साफ-सफाई एवं ग्राम के प्रमुख चौराहों पर कचरादान रखवाये जाने और ग्राम के चिन्हित चौराहों के सौन्दर्यीयकरण के लिए नगर के खाली पडी जगहों में हरे भरे पौधे लगाए जाने की योजना बनाई गई है।साथ ही पंचायत के पेयजल सप्लाई करने वाले पम्प संचालकों का मानदेय बढ़ाए जाने का निर्णय भी लिया गया है।
                           बतादें कि जिले के शाहनगर जनपद पंचायत की इस सदर पंचायत में करीब बारह साल पहले कुल 51 दुकानों का निर्माण कराय गया था जिन्हें पंचायत द्वारा 500 प्रतिमाह के मान से  किराए पर दी गई थी इनके अनुबंध के अनुसार हर तीन  साल में किराया बढ़ाए जाने एवं दुकानों को स्वयं के लिए इस्तेमाल करने व किसी तरह की तोड़फोड़ ओर नवीन निर्माण ना करने आदि की शर्तें सामिल की गई थी। लेकिन व्यापारियों के रसूख व दबाव के चलते पूर्व के किसी भी सरपंच द्वारा किराया नहीं बढ़ाया गया ना ही नवीन अनुबंध किया गया। इसके अलावा ग्राम पंचायत की 51 दुकानों में से 17 दुकानों के दबंग व्यापारियों द्वारा पंचायत से पाँच सौ रुपये में लेकर दूसरे व्यापारियों को पांच हजार के किराए पर दिए हुए बताए जा रहे हैं। जिससे पंचायत को हर माह लाखों रुपये का नुकसान उठाना पड़ रहा था।ऐसे में ग्राम पंचायत सरकार के युवा मुखिया मनोज जैन द्वारा दुकानों का नवीन अनुबंद कराए जाने के लिए व्यापारियों को बढ़े हुए किराए के साथ नोटिस थमा दिया गया।
                              पंचायत द्वारा यहां एक दुकान का पाँच सौ रुपये से किराया बढ़ाकर अब पंद्रह सो रुपए प्रतिमाह कर दिया गया है जिसे कुछ दबंग व्यापारी किराए को कम कराए जाने के लिए ग्राम सरकार पर भारी दबाव बनाया जा रहा है। हालांकि प्राप्त जानकारी के अनुसार पंचायत अपने ग्रामों के विकास के लिए अपने निर्णय में अडिग दिख रही है। वहीं लगभग सभी व्यापारियों द्वारा निर्धारित समय सीमा पर नवीन अनुबंध के लिए आवश्यक दस्तावेज पंचायत सचिव के पास जमा करा दिए गए है।साथ ही जिन व्यापारियों द्वारा लंबे समय से किराया जमा नही किया गया था उन्हें भी पंचायत द्वारा नोटिस जारी किए गए है।
 इनका है कहना:-
           ग्राम पंचायत शाहनगर द्वारा निर्मित दुकानों के अनुबंध के अनुसार निर्मित दुकानों का नक्शा बदलने, अतिक्रमण एवं अन्य व्यक्ति को किराए पर देना विधि विरुद्ध है।इस संबंध में मेरे द्वारा पंचायत सचिव को निर्देश दिए गए हैं कि जो लोग दुकानों का स्वयं उपयोग नहीं कर रहे है और नगर के किसी अन्य लोगों को किराए पर दुकान दिए हुए हैं ऐसे लोगों को तत्काल नोटिस जारी किये जायें।
-प्रदीप सिंह मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत
शाहनगर ग्राम पंचायत क्षेत्र की जनता ने जिस विश्वास और भरोसे पर चुना है मैं उनके भरोसे पर खरा उतरने का प्रयास करूंगा।साथ ही प्रशासन के सहयोग ओर निर्देशों का पालन करते हुए पंचायत के चहुंमुखी विकास के लिए कार्य करूंगा और जिले की नंबर एक ग्राम पंचायत बनाए जाने के लिए सतत कोशिश करता रहूंगा। ग्राम के पानी, बिजली, सड़क एवं स्वच्छता के लिए जो भी आवश्यक निर्णय लिए जाने की आवश्यकता होगी वह लिए जाएंगे।
 मनोज जैन
सरपंच, ग्राम पंचायत शाहनगर