पंचायत चुनाव के लिए 10 हजार मतदान कर्मी, एक हजार सुरक्षाकर्मियों की होगी तैनाती

2:13 pm or June 4, 2022

मयंक भार्गव

बैतूल ४ जून ;अभी तक;  पंचायत निर्वाचन 2022 को लेकर जिला प्रशासन द्वारा जोर शोर से तैयारियां की जा रही है। तीन चरणों में हो रहे पंचायत चुनाव के लिए मतदान दलों के गठन की कार्यवाही अंतिम चरण में पहुंच चुकी है। बैतूल जिले में पंचायत चुनाव के लिए 1781 मतदान केन्द्र बनाये गये है। मतदान के लिए 1781 मतदान दलों के साथ ही दस फीसदी रिजर्व मतदान दलों का गठन किया गया है। मतदान दलों में दस हजार से अधिक कर्मचारियों अधिकारियों की बतौर मतदान कर्मी तैनाती की जा रही है। एक मतदान दल में पांच मतदान कर्मी शामिल होंगे इसके अलावा प्रत्येक मतदान दल में एक सुरक्षाकर्मी की तैनाती की जा रही है। निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए जिले में लगभग एक हजार सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की जायेगी। जिसमें पुलिसकर्मियों के अलावा, वनकर्मी एवं होमगार्ड के जवान भी शामिल होंगे।

मतदान दल का ये होगा स्वरूप

पंचायत चुनाव के मतदान दल में पांच अधिकारी-कर्मचारी शामिल रहेंगे। प्रत्येक दल में एक पीठासीन अधिकारी के अलावा मतदान अधिकारी क्रमांक एक, दो, तीन एवं चार रहेंगे। जिन्हें मतदान को लेकर अलग-अलग जिम्मेदारियां सौंपी जायेगी। प्रत्येक मतदान दल में मतदान के दौरान सुरक्षा सहित अन्य व्यवस्थाओं के लिए सुरक्षा कर्मी एवं कोटवार भी तैनात रहेगा।

पांच सौ पुलिस कर्मियों की डिमांड

पुलिस अधीक्षक बैतूल सिमाला प्रसाद ने बताया कि पंचायत निर्वाचन 2022 के दौरान सुचारू कानून व्यवस्था के लिए लगभग एक हजार सुरक्षा कर्मियों की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि जिले में उपलब्ध पुलिस बल के अलावा लगभग एक्स्ट्राफोर्स के लिए 500 सुरक्षा कर्मियों की डिमांड भेजी गई है। एसपी ने बताया कि पंचायत चुनाव में पुलिसकर्मियों के अलावा होमगार्ड चुनाव में पुलिसकर्मियों के अलावा होमगार्ड जवानों एवं वनकर्मियों की भी आवश्यकतानुसार तैनाती की जायेगी।

बॉड ओव्हर की कार्यवाही की जा रही है- एसपी

पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद ने बताया कि शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए कानून व्यवस्था सुचारू रहेगी। उन्होंने बताया कि चुनाव के मद्देनजर आपराधिक, असामाजिक तत्वों, अशांति फैलाने वालों एवं पुराने बदमाशों के खिलाफ बॉड ओव्हर एवं प्रतिबंधात्मक कार्यवाहियां जिलेभर में की जा रही है। साथ ही मतदान में विघ्न डालने वालों पर भी पैनी नजर रखी जा रही है।