पंचायत व नगरीय निकाय के चुनाव में हुई धंधाली को लेकर कांग्रेस पार्टी ने किया प्रदर्शन

1:32 pm or August 2, 2022

पन्ना संवाददाता

पन्ना २ अगस्त ;अभी तक; पंचायत व नगरीय निकाय के चुनाव में हुई गड़बड़ियों को लेकर जिला कांग्रेस कमेटी के तत्वाधान में जिला अध्यक्ष श्रीमती शारदा पाठक के नेतृत्व में कांग्रेस के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने पुरानी कचहरी से पैदल मार्च निकालकर नवीन कलेक्ट्रेट भवन पहुंचकर राज्यपाल के नाम पन्ना एसडीएम सत्यनारायण दर्रों को ज्ञापन सौंपा साथ ही चेतावनी दी की ज्ञापन में दिए गए बिंदुओं का यदि शीघ्र निराकरण नहीं होता है तो कांग्रेस कलेक्ट्रेट का घेराव करने के लिए मजबूर हो जाएगी। पैदल मार्च के दौरान आक्रोशित कांग्रेस नेताओं ने सरकार व प्रशासन विरोधी नारे लगाते हुए जमकर हंगामा किया।  भाग कलेक्टर भाग, कलेक्टर चोर है सत्ताधारी नेताओं का दलाल है जैसे नारे लगाये गये। तत्पश्चात् ज्ञापन सौपा गया।

सौपे गए ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि जिला कांग्रेस कमेटी पन्ना द्वारा वर्तमान में संपन्न हुए स्थानीय निर्वाचन में जिला प्रशासन पन्ना द्वारा जिला पंचायत, जनपद पंचायत सदस्य के निर्वाचन में शासन के प्रतिनिधियों के दबाव में सारणीकरण के दौरान कांग्रेस समर्थित उम्मीदवारों को विजय होने के बाद भी पराजित घोषित किया जाना साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष जनपद पंचायत अध्यक्ष के निर्वाचन में चंद सदस्यों की उपस्थिति में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष का निर्वाचित घोषित करने के उपरांत अन्य सदस्यों को सम्मेलन कक्ष में प्रवेश की अनुमति प्रदान किया जाना घोर विधिक एवं लोकतांत्रिक तथा राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशों का उल्लंघन किया गया कि जनपद पंचायत गुनौर जिला पन्ना के अध्यक्ष उपाध्यक्ष निर्वाचन दिनांक 27 जुलाई को पीठासीन अधिकारी गुनौर जिला पन्ना द्वारा जनपद पंचायत गुनौर का प्रथम सम्मेलन 12 बजे दोपहर से आहूत किया गया था जिसके पश्चात प्रथमतः अध्यक्ष तत्पश्चात उपाध्यक्ष निर्वाचन संपन्न कराकर लगभग अपरान्ह तीन बजे कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार परमानंद शर्मा को निर्वाचित कर प्रमाण पत्र प्रदान किया गया इसके पश्चात नव निर्वाचित उपाध्यक्ष परमानंद शर्मा के बिना किसी जानकारी व किसी सुनवाई का अवसर दिए कलेक्टर पन्ना के द्वारा जनप्रतिनिधियों के दबाव में पराजित उम्मीदवार के द्वारा कलेक्टर न्यायालय में  प्रस्तुत किया जिसे दिनांक 27 जुलाई 2022 को ही कांग्रेस समर्थित परमानंद शर्मा का निर्वाचन कलेक्टर द्वारा निरस्त कर दिया गया जिसकी कोई सूचना समर्थित नव निर्वाचित उपाध्यक्ष को नही दिया गया तत्पश्चात कांग्रेस समर्थित एवं अन्य सदस्यों को सूचना दिए बगैर पराजित उम्मीदवार को मनमाने तरीके से उपाध्यक्ष निर्वाचित घोषित कर दिया जिसकी घोर निंदा कांग्रेस पार्टी करती है और यह मांग करती है कि नव निर्वाचित उपाध्यक्ष परमानंद शर्मा का निर्वाचन बहाल किया जाए तथा कलेक्टर पर कार्यवाही की जाये।

ज्ञापन के माध्यम से यह मांग की गई है कि स्थानीय निर्वाचन पंचायत एवं नगरीय निकाय में हुए उपरोक्त गंभीर विधिक लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को सुधार किया जाए अन्यथा जिला कांग्रेस परिवार चरणबद्ध आंदोलन करने को बाध्य होगा जिसमें कानून व्यवस्था की संपूर्ण जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। आयोजित प्रदर्शन में प्रमुख रूप से विधायक शिवदयाल बागरी, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती ममता शर्मा, शिवजीत सिंह भैया राजा, परमानन्द शर्मा, मुरारीलाल थापक, राजेश तिवारी, डीके दुबे श्रीकांत दीक्षित, मनीष मिश्रा, मनोज केशरवानी, अनीश खान सहित काफी संख्या में कांग्रेस जन उपस्थित रहे।