पंच-ज’ अभियान के अंतर्गत पर्यावरण संरक्षण की दिशा में वाहन चालकों को वितरित किये गये सीड बाॅल्स

 महावीर अग्रवाल 
         मंदसौर १४ जून ;अभी तक; म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के दिशा-निर्देशानुसार एवं माननीय जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री विजय कुमार पाण्डेय के मार्गदर्शन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर द्वारा ’पंच-ज’ अभियान के अंतर्गत पर्यावरण संरक्षण की दिशा में एक अनोखी पहल की गई है। इसके अंतर्गत सीड बाॅल्स के माध्यम से वृक्षारोपण करने का कार्य एक अभिनव पहल है।
                जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री विजय कुमार पाण्डेय द्वारा न्यायालय परिसर में पक्षकारों को पौधे एवं सीड बाॅल्स वितरित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। शुभारंभ के दौरान अध्यक्ष अभिभाषक संघ श्री रघुवीरसिंह पंवार एवं अन्य न्यायाधीशगण एवं अधिवक्तागण उपस्थित रहे।
              तत्संबंध में श्री विजय कुमार पाण्डेय द्वारा बताया कि यह एक ऐसी अनोखी पहल है जिसमें वृक्षारोपण हेतु किसी विशेष परिश्रम की आवश्यकता नहीं होती है, अपितु मिट्टी की बाॅल के अन्दर ही पौधे के बीज को रख दिया जाता है। इस बाॅल को जहां भी फैंका जाता है वह पौधा बन जाता है।
                   इस अनुक्रम में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पैरालीगल वालेंटियर्स द्वारा लगभग 10 तरह के बीजों से सीड बाॅल्स तैयार की गई, तदोपरांत सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर मो. रईस खान की उपस्थिति में अधिवक्ता श्री राघवेन्द्रसिंह तोमर, ट्रेफिक थाना प्रभारी श्री शैलेन्द्रसिंह चैहान, पैरालीगल वालेंटियर्स श्रीमती रामकुंवर राठौर, श्रीमती बरखा सुरागी, श्री शिवम गुप्ता, श्री आदिल हुसैन, एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की समस्त टीम द्वारा मंदसौर शहर के नयाखेड़ा बायपास पर जाकर सीड बाॅल्स का वितरण ट्रक, बस, कार, मोटर सायकल चालकों को किया गया। साथ ही उन्हे बताया कि वह उक्त सीड बाॅल्स को रास्ते में कहीं झाड़ियों या कच्चे स्थान पर फैंकते जायें जिससे वह बाद में पौधा बन जायेगा। राहगीरों द्वारा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मंदसौर के सीड बाल्स वितरण संबंधी कार्य को सराहा गया।
                    उक्त सीड बाॅल्स में अरंडी, खिरनी, सहजना, खरेज, अरिठा, बकासन इत्यादि बीज उपयोग में लाये गये। ज्ञातव्य है कि इन सीड बाॅल्स को बारिश के समय झाड़ियों में फैका जायेगा जिससे की बिना किसी विशेष मेहनत के वृक्षारोपण हो सकेगा।