पंडित दीनदयाल उपाध्याय एकात्म मानववाद के प्रेणता थे- विवेक स्वामी विवेकानंद महाविद्यालय में संगोष्ठी का आयोजन

9:42 pm or November 6, 2022

दीपक शर्मा

पन्ना ६ नवंबर ;अभीतक;  श्री राम शिक्षा प्रचार एवं ग्रामीण विकास समाज उत्थान समिति द्वारा संचालित स्वामी विवेकानंद महाविद्यालय स्वामी विवेकानंद पैरामेडिकल कॉलेज स्वामी विवेकानंद आवासीय दिव्यांग संस्थान एवं स्वामी विवेकानंद औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के समेकित तत्वाधान में कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विवेक मिश्रा, महामंत्री , भारतीय जनता पार्टी, विशिष्ट अतिथि श्रीमती साधना अवस्थी उपसंचालक शिक्षा एवं आनंद पांडे जिला समन्वयक मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद जिला पन्ना उपस्थित हुए।

 

कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए आईटीआई प्राचार्य धीरज सेन द्वारा सभी का स्वागत एवं परिचय कराया गया, तदोपरांत आनंद पांडेय द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय के बारे में बताया गया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के चिन्तक और संगठनकर्ता थे। वे भारतीय जनसंघ के अध्यक्ष भी रहे। उन्होंने भारत की सनातन विचारधारा को युगानुकूल रूप में प्रस्तुत करते हुए देश को एकात्म मानववाद नामक विचारधारा दी। वे एक समावेशित विचारधारा के समर्थक थे जो एक मजबूत और सशक्त भारत चाहते विशिष्ट अतिथि साधना अवस्थी द्वारा बताया गया कि दीनदयाल उपाध्याय जनसंघ के राष्ट्रजीवन दर्शन के निर्माता माने जाते हैं। उनका उद्देश्य स्वतंत्रता की पुनर्रचना के प्रयासों के लिए विशुद्ध भारतीय तत्व-दृष्टि प्रदान करना था।