पड़ोसी ने चुराए जेवर पकड़ाने के डर से आंगन में फेंके

मयंक भार्गव

बैतूल 21 अक्टूबर ; अभी तक ;  एक पड़ोसी ने ही सूने घर का ताला तोड़कर सेंध लगाते हुए लाखों रुपए के सोने-चांदी के जेवरात चोरी कर लिए। इस मामले की फरियादी द्वारा आठनेर थाने में शिकायत करने के बाद पुलिस ने पूछताछ के लिए पड़ोसी को बुलाया तो पड़ोसी ने चोरी पकड़ाने के डर से जिस घर में चोरी की थी उसी के आंगन में जेवर फेंक दिए। पुलिस ने पुन: पड़ोसी से पूछताछ की तो उसने चोरी करना कबूल कर लिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

आठनेर थाना प्रभारी जयंत मर्सकोले ने बताया कि 9 अक्टूबर को देहगुड़ गांव की कमला बाई ने सोने-चांदी के जेवरात चोरी होने की रिपोर्ट की थी। चोर उसके घर से करीब डेढ़ लाख रुपए के सोने-चांदी के जेवर चुराकर फरार हो गए थे। जिस पर आठनेर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी।

आंगन में फेंके जेवर

श्री मर्सकोले ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में सभी संदेहियों पर नजर रखना शुरू किया। शक के आधार पर महिला के पड़ोसी मोहन अमरुते को पूछताछ के लिए बुलाया गया। पहले दिन तो पूछताछ में उसने कुछ नहीं बताया, लेकिन पुलिस से छूटते ही उसने चुराए जेवर कमला के घर के पास आंगन में फेंक दिए। पुलिस पूछताछ में मोहन अमरूते ने बताया कि उसे चोरी करने के लिए पकड़े जाने का डर था इसलिए उसने आंगन में जेवर फेंक दिए थे।

आरोपी ने कबूल किया चोरी करना

टीआई जयंत मर्सकोले ने बताया कि इस पर संदेह पुख्ता होने पर जब आरोपी को फिर से पूछताछ के लिए तलब किया गया तो उसने कबूल कर लिया। उसने कबूल किया कि उसने कमला के घर के दरवाजे के ताला तोड़कर जेवरात चुराए थे। दबाव के बाद जेवरात फेंक भी दिए। पुलिस ने मौके से जेवरात बरामद किए। वहीं आरोपी के घर से बाकी बचे जेवरात चांदी की पैर पट्टियां व अन्य सोने के जेवर जिनकी कीमत करीब 70 हजार है। बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड मांगा है।