पति को खुदकुशी के लिये मजबूर करनेे पर पत्नी व सास गिरफतार

मयंक शर्मा
खंडवा २१ जून ;अभी तक;   टायपिंग कार्य करने वाले युवक की मौत के मामले में स्थानीय रामनगर पुलिस चैकी ने रविवार को मृतक की पत्नी और सास पर प्रकरण दर्ज कर बंदी बना लिया हैं।
                 मामले की जांच कर रहे एएसआइ रमेश मोरे ने बताया कि मृतक प्रदीप जिला न्यायालय परिसर में टायपिंग का कार्य करता था। उसे रुपयों को लेकर पत्नी दुर्गा ओर सास कुसुम बाई प्रताड़ित करती थी। उसे अपने पिता को मिलने वाली पेंशन में से रुपये लाने के लिए प्रताड़ित किया जाता था। उसके मना करने पर वे उसे खाना नहीं देते थे। उसके साथ मारपीट करते थे।
                श्री मोरे ने बताया कि रामनगर निवासी मृतक के दो बच्चे हैं। वर्ष 2019 में प्रदीप के साथ पत्नी दुर्गा और सास कुसुम ने मारपीट की थी। उसे घर में बंद कर दोनों ने पीटा था। इसके बाद प्रदीप ने दोनों पर कोतवाली थाने में उसके साथ मारपीट करने का प्रकरण दर्ज करवाया था। यह मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है।
                श्री मोरे ने बताया कि अंततः प्रताडना से तंग आकर 6 दिसंबर 2020 को प्रदीप पिता शिवराम ओसवाल ने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। पुलिस को मृतक द्वारा छोडा गया  सुसाडट नोट मिला था। एएसआई ने बताया कि मृतक के परिजनों  के अलावा उसके परिचितों के बयानों
में प्रताडित किये जाने की बात सामने आई है। इसके अलावा उसके सुसाइड नोट की जांच भी करवाई गई। जांच के बाद उसकी पत्नी दुर्गा और कुसुम बाई पर रविवार को धारा 306, 323 और 34 में प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार किया गया। द्वय महिलाअयें प्रदीप को उसके  पिता को मिलने वाली पेंशन में से रुपये लाने के लिए  दबाव डालती थी। मृतक ने सुसाईड नोट में े पत्नी दुर्गा ओसवाल और सास कुसुम द्वारा प्रताड़ित किए जाने से तंग आकर आत्महत्या करना लिखा था। इसके बाद इस मामले में मर्ग कायम कर रामनगर चैकी पुलिस द्वारा जांच की जा रही थी।
                जांच अधिकारी ने कहा कि  पत्नी दुर्गा ओर सास कुसुम बाई प्रताड़ित करती थी।  वे उसे खाना नहीं देते थे। उसके साथ मारपीट करते थे।