पत्नी से अवैध संबंध के शक में उतारा मौत के घाट

6:25 pm or November 16, 2021

मयंक भार्गव, बैतूल से

बैतूल १६ नवंबर ;अभी तक;  पत्नी से अवैध संबंध होने के शक में पति ने एक व्यक्ति को सब्बल से कई वार कर मौत के घाट ना सिर्फ उतारा डाला बल्कि मृतक के शव को बेशरम की झाडिय़ों में फेंक दिया ताकि किसी को पता ना चल सके। पुलिस ने इस अंधे कत्ल का खुलासा 11 दिन बाद करते हुए आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है। यह घटना जिला मुख्यालय से करीब 26 किलोमीटर दूर शाहपुर पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले ग्राम उसरीढाना में 5 नवम्बर को घटित हुई थी।

झाडिय़ों में फेंक दिया था शव

5 नवम्बर को ग्राम कोटखेड़ा नीमपानी से उसरीढाना मार्ग पर बेशरम की झाड़ी में मिले युवक के शव के मामले का खुलासा शाहपुर पुलिस ने कर दिया है। पुलिस ने हत्या के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने पुलिस के समक्ष स्वीकार किया है कि मृतक के उसकी पत्नी से अवैध संबंधों का शक था, इसके चलते उसने उसे मौत के घाट उतार कर शव को झाडिय़ों में फेंक दिया था।

घोड़ाडोंगरी निवासी था मृतक

एसडीओपी एमएस मीणा ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी 5 नवंबर को कोटखेड़ा नीमपानी से उसरीढाना जाने वाले रास्ते पर कमल सिंह अहाके के गन्ने के खेत के बाजू में बेशरम की झाड़ी में एक व्यक्ति मरा पड़ा है। सूचना पर मौके पर पहुंचकर वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया। ग्रामवासी मृतक के रिश्तेदारों ने शव देखकर मृतक की पहचान गांव के प्रेमसिंग इवने के भांजे शिव पिता झीकू बरकड़े निवासी ओझाढाना घोड़ाडोंगरी के रूप में की।

एसडीओपी श्री मीणा ने बताया कि पुलिस ने जांच में पाया कि अज्ञात आरोपी द्वारा हत्या कर बेशरम की झाड़ी में शव छिपा दिया गया है। मामले की बारीकी से विवेचना करने पर पाया गया कि मृतक शिव बरकड़े अपने एक रिश्तेदार के घर कोटखेड़ा हमेशा आते रहता था। इससे आरोपी जगन उइके को संदेह था कि उसकी पत्नी से शिव बरकड़े के अवैध संबंध हैं। इसी शक के चलते 4 नवंबर की रात्रि में उसने लोहे के सब्बल से मारकर हत्या कर दी और शव को कोटखेड़ा उसरीढाना जाने वाले रास्ते पर बेशरम की झाड़ी में फेंक दिया। आरोपी ने जुर्म स्वीकार कर लिया है। उसकी निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त सब्बल जब्त कर लिया है।

आरोपी पकडऩे में इनकी रही भूमिका

निरीक्षक शिवनारायण मुकाती , सउनि विनोद मालवीय , सउनि अजय भाट , प्रधान आरक्षक कैलाश पन्द्राम , श्रीराम उईके , आरक्षक मोहित भाटी  , आरक्षक प्रवेश की भूमिका रही।