पत्रकार कमाल खान को खंडवा के पत्रकारों ने दी श्रद्धांजलि

मयंक शर्मा
खंडवा १५ जनवरी ;अभी तक;  वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान का गुरुवार को हार्ट अटैक से निधन हो
गया। उनके निधन की खबर सुन कर न सिर्फ पत्रकारिता जगत बल्कि आम लोगों को
भी बहुत दु:ख पहुंचा। निधन के बाद खंडवा के पत्रकारों ने नगर निगम चौराहे
पर कमाल खान को श्रद्धांजलि अर्पित कर उनकी पत्रकारिता को याद करते हुए
यह संकल्प लिया कि खंडवा के पत्रकार भी कमाल खान की तरह पत्रकारिता
करेंगे।
                     एनडी टीवी इंडिया के सवांददाता निशात सिद्दीकी ने कमाल खान के जीवन के
बारे स्थानीय पत्रकारों को बताया। उन्होंने कहा कि कमाल खान न सिर्फ
पत्रकार थे, बल्कि अपने आप में वह एक पूरी यूनिवर्सिटी थे। उनकी
स्क्रिप्ट से लेकर पीस टू कैमरा तक हर एक चीज़ हमें कुछ न कुछ सिखाता है,
खास कर उनके बोलने का सौम्य अंदाज़ और लब्ज़ो का चयन। आज की चीखती और
चिल्लाती पत्रकारिता के बीच यह बताती है कि पत्रकारिता शांत और धीरज वाले
स्वभाव में भी की जा सकती है। गंभीर विषयों पर भी सरलता से अपनी बात समझा
जाना यह कमाल सिर्फ कमाल खान ही कर सकते हंै।
                 वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी सुनील जैन ने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि पत्रकारिता को
लोकतंत्र का चौथा स्तंभ माना जाता है और शासन-प्रशासन व सरकारें भी
पत्रकारों की बातों को सम्मान देती है। कमाल खान ने शानदार पत्रकारिता
करते हुए पत्रकार जगत में एक मिसाल कायम की। श्रद्धांजलि कार्यक्रम को
पत्रकार शेख शकील, शेख रेहान, अमित जायसवाल, अनंत माहेश्वरी, सिराजुद्दीन
परफेक्ट, शहर काजी सहित अन्य पत्रकारों ने भी कमाल खान के जीवन पर प्रकाश
डालते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी। वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान के चित्र के
समीप कैंडल जला कर दो मिनट का मौन रख सभी ने श्रद्धांजलि दी।