पदमनगर थाने के आरक्षक पर प्रकरण दर्ज करने की मांग  को लेकर युवकों व महिलाओं ने थाने का घेराब किया

मयंक शर्मा

खंडवा २७ अक्टूबर ;अभी तक; बीते सोमवार देर शाम नगर के पदमनगर थाने के आरक्षक अरविंद तोमर पर गालीगलौज व मारपीट का प्रकरण दर्ज करने की मांग  को लेकर निचली बस्ती संजय नगर, दादाजी वार्ड के युवकों व महिलाओं ने थाने का घ्धेराब करते हुये हगामा  किया और नारेबाजी भी की। युवकों ने आरक्षक श्री तोमर  के खिलाफ अर्धनग्न होकर प्रदर्शन भी किया।

आका्रशित  भीड़ ं नारेबाजी करते हुए थाना परिसर में घुस गयी थी। पुलिस से प्रताडित  युवक जसवंत की पत्नी ने कहा कि मेरे पति को अरविंद द्वारा झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर मारपीट की गई है। आरक्षक ने यहां तक धमकी दी कि तेरे पति को जिलाबदर करवा दूंगा। करीब आधे घण्टे से अधिक समय तक चले हंगामे व प्रदर्शन के नजारे के बाद  थाना प्रभारी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ ने प्रदर्शनकारियो को अपने कक्ष में बुलाकर पूरा घटनाक्रम जाना।

थाना प्रभारी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ ने आक्रोशित युवकों को समझाइश देकर रवाना किया। पीड़ित युवक जसवंत वर्मा निवासी शिवाजी नगर दादाजी वार्ड का निवासी है। उसने बताया कि सोमवार शाम चार बजे क्षेत्र में माताजी का विसर्जन जुलूस निकल रहा था। तभी दो पक्षों में विवाद होने पर आरक्षक अरविंद व अन्य पुलिसकर्मी आए।े मुझे देखते ही आरक्षक अरविंद ने गालीगलौज कर कहा कि तू यहां पर क्या नेतागिरी कर रहा है। मेेरे साथ पाइप से मारपीट की, जिससे मेरे दाएं हाथ के अंगूठे, दाएं पैर का घुटना व शरीर में अन्य जगहों पर चोट लगी है। जसवंत ने कहा आरक्षक ने पूर्व में भी उसके साथ मारपीट की है।
पुलिस की मनमानी पूर्वक मारपीट गालीगलैज व धमकी से गुस्साई  क्षेत्र के लोग एक जुंट होकर थाने  पहुंचे थे। उन्होने आरक्षक पर मारपीट करने का अरोप लगाते हुये थाना प्रभारी से शिकायत की है।

थाना प्रभारी, पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ ने पूरे मामले को लेकर बताया कि झमराल मोहल्ला से माताजी का विसर्जन जुलूस निकल रहा था। शिवाजी नगर के पास तीन-चार युवक शराब के नशे में लोगों के साथ मारपीट कर उपद्रव कर रहे थे। इस दौरान क्षेत्रवासियों ने पदमनगर थाने में सूचना दी। जानकारी मिलते ही थाने के छह-सात पुलिस जवान मौके पर पहुंचे। उनमें आरक्षक अरविंद भी शामिल था उपद्रव कर रहे युवकों को पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर तीतर-बीतर किया। उन्होने कहा कि उपद्रव कर रहे युवकों को खदेड़ा नहीं जाता तो विवाद उग्र हो जाता। आरक्षक अरविंद तोमर ने बताया कि उसी भीड़ में जसवंत व उसके साथी भी खड़े हुए थे। विवाद खत्म होने के बाद  मारपीट का आरोप लगाते हुये थाने पहुंचे लोगो ने हंगामा किया है। उन्होने हल्का बल प्रयोग दौरान किसी को चोंट लगने से इंकार किया हे।

थाना प्रभारी ने मामले का पटाक्षेप फिलहाल यह कहकर कर दिया है कि  आरक्षक अरंविद पर मारपीट का आरोप लगाया है। अगर भीड़ पर तत्काल काबू नहीं करते तो विवाद और अधिक बढ़ जाता। शिकायती आवेदन लिया है। जांच करवाएंगे।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *